सूक्ष्म सिंचाई योजना से किसान बढ़ाएंगे पैदावार:मोतिहारी में कम लागत से जल संचय होगा, डीएम ने जागरूकता रथ को किया रवाना

मोतिहारी3 महीने पहले

सात निश्चय पार्ट - 2 प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना (PDMC - MI अन्तर्गत प्रचार प्रसार के लिए सूक्ष्म सिंचाई जागरूकता रथ को बुधवार को डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। रथ के साथ नुक्कड़ नाटक टीम को भी रवाना किया गया। प्रखंडों में जा कर सूक्ष्म सिंचाई योजना लाभ के बारे में वीडियो और नुकर नाटक के माध्यम से जानकरी देगी।

पिछले तीन वर्षों में जिले में 116 कृषकों के खेत पर 269.19 एकड़ रकवा में ड्रीप एवं मिनी स्प्रिंकलर का अधिष्ठापन किया गया है। वहीं वर्ष 2022-23 में जिसमें अबतक 125.75 एकड़ रकवा का कार्यादेश निर्गत कर कार्य कराया जा रहा है। इस कार्यक्रम अन्तर्गत सरकार के द्वारा 90 प्रतिशत अनुदान कृषकों को दिया जा रहा है। जिले के सभी प्रखंडों में आयोजन कराया जा रहा है। ताकि अधिक से अधिक संख्या में किसान इससे लाभान्वित हो सकें।

ड्रीप सिंचाई से होने वाले लाभ

1. लगभग 60 प्रतिशत जल की बचत

2. 25-30 प्रतिशत उर्वरक खपत में कमी

3. 30-35 प्रतिशत लागत में कमी

4. 25-35 प्रतिशत अधिक उत्पादन

5. बेहत्तर उत्पादन का उत्पाद

मुफ्त सामूहिक नलकुप

लघु एवं सीमांत कृषकों हेतु ड्रीप सिंचाई के साथ-साथ 2.5 हेक्टर के समूह (कम से कम) पाॅच किसान हेतु शत प्रतिशत् अनुदान पर शर्तों के साथ सामूहिक नलकुप का प्रावधान भी है।

योजना के लाभ लेने हेतु आवेदन की प्रक्रिया

योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को उद्यान निदेशालय के वेबसाइट htpp//horticulture.bihar.gov.in पर आनलाईन आवेदन कर सकते है।

विशेष जानकारी के लिए सहायक निदेशक उद्यान एवं संबंधित प्रखंड के प्रखंड उद्यान पदाधिकारी से सम्पर्क कर सकते है।

योजना के बारे में क्या कहते है डीएम

डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने कहा की बिहार सरकार कृषि विभाग उद्यान निदेशालय के द्वारा सूक्ष्म सिंचाई जागरूकता रथ चलाया जा रहा है। जिसे हरि झंडी दिखा कर रावण किये है ताकि किसानों के बीच जा कर उन्हें जजागरूक कर सके, किसानों की जानकरी के लिए बता दे कि इसमें 90 प्रतिशत सब्सिडी सरकार द्वारा दी जा रही है। इस योजना का लाभ ज्यादा से ज्यादा किसानों को लेना चाहिए।