बेखौफ अपराधी:नामजद प्राथमिकी के 40 दिन बाद भी नहीं हो रही गिरफ्तारी, लगातार धमकी दे रहे बदमाश

मुंगेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नयागांव का मामला, भयभीत है पीड़ित परिवार, जमीन िबक्री के लिए रंगादारी की मांग की थी
  • पीड़ित परिवार ने दो मुख्य आरोपी के साथ चार अन्य पर किया है केस

सफियासराय थाना में 14 अप्रैल को नयागांव जमालपुर निवासी विक्की कुमार ने अपराधी भलार निवासी सूरज सिंह और किस्टो सिंह सहित चार अन्य के विरूद्ध जमीन बिक्री के एवज में रंगदारी मांगने और नहीं देने पर जमीन पर बनी झोपड़ी में आग लगा देने की प्राथमिकी दर्ज कराई थी। प्राथमिकी के 40 दिन बाद भी पुलिस रंगदारी मांगने वाले बदमाश को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। थाना में नामजद प्राथमिकी दर्ज कराने के बाद अपराधी लगातार फोन से जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। बदमाशों द्वारा 14 मई को भी विक्की के मोबाइल पर फोन कर रंगदारी के पैसों की मांग की गई अन्यथा अंजाम भुगतने की धमकी दी गई। धमकी देने वाला बदमाश खुलेआम घूम रहा है। जिस कारण विक्की का परिवार किसी अनहोनी की आशंका से भयभीत है। दूसरी ओर सफियासराय थाना की पुलिस अनुसंधान और जांच जारी रहने की बात कहती है। जबकि प्राथमिकी दर्ज कराने वाले विक्की कुमार द्वारा केस के अनुसंधानकर्ता को सभी साक्ष्य भी उपलब्ध करा दिया गया है। बावजूद बदमाश की गिरफ्तारी नहीं होने से जहां अपराधी का मनोबल बढ़ा है वहीं प्राथमिकी दर्ज कराने वाला पीड़ित परिवार अनहोनी की आशंका से सहमा हुआ है। पीड़ित परिवार से मंगलवार को एसपी से मिल कर रंगदारी की डिमांड करने वाले बदमाश की गिरफ्तारी की गुहार लगाई। दरअसल, मामला सफियासराय ओपी अन्तर्गत विदेशीराम तालाब के समीप जमीन बिक्री के बदले बदमाशों द्वारा रंगदारी की मांग से जुड़ा है। जमीन मालिक संतोष मिश्रा द्वारा 32 कट्‌ठा जमीन का प्लाटिंग कर बिक्री के लिए जमालपुर नया गांव निवासी विक्की सिंह के नाम से पावर आफ अटॉर्नी किया है। जनवरी से विक्की ने प्लॉट बेचना शुरू किया। इसके बाद भलार निवासी बदमाश सूरज सिंह ने विक्की से जमीन बेचने के बदले 10 लाख रुपया रंगदारी की मांग की। 03 लाख रुपया बतौर रंगदारी विक्की चार किश्त में दे भी चुका है। इसके बाद शेष 07 लाख रुपया का भुगतान एक मुश्त करने का डिमांड किया गया। एक मुश्त राशि देने से मना करने पर भयभीत करने के उद्देश्य से विक्की के फुफेरा भाई वशिष्ट कुमार जिसने वहां पर एक प्लाट खरीदा है, उस जमीन पर बने झोपड़ी में आग लगा दी। बता दें कि मामले में नामजद अभियुक्त सूरज सिंह आपराधिक प्रवृति का है, जिसके खिलाफ कई आपराधिक मामला अन्य थानों में भी दर्ज है। बावजूद पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर पा रही है। इस संबंध में पूछे जाने पर सफियासराय प्रभारी नीरज कुमार ने बताया कि मामले में अनुसंधान चल रहा है। जांच प्रक्रिया पूरी होने के बाद गिरफ्तारी की कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...