मुंगेर पहुंचे BSAP के महानिदेशक:जमालपुर पुलिस लाइन में 460 प्रशिक्षुओं के ड्रिल और पीटी का लिया जायजा

मुंगेर2 महीने पहले

बिहार विशेष सशस्त्र सैन्य पुलिस के महानिदेशक एके अंबेडकर मंगलवार को मुंगेर पहुंचे। इस दौरान मुंगेर परिसदन में उन्हें बीएसएपी के जवानों की ओर से गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। तत्पश्चात जमालपुर बीएस के प्रशिक्षण का निरीक्षण करने को जमालपुर पहुंचे। जमालपुर पुलिस लाइन में टीओटी प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे 460 प्रशिक्षुओं को अंतिम दिन दीक्षांत समारोह के दौरान ड्रिल पीटी के डेमो के जायजा लिया।

इस मौके पर कमांडेंट नवीन चंद्र झा सहित अन्य पुलिस बल मौजूद रहे। वहीं जमालपुर में बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस (बीएसएपी) के पुलिस महानिदेशक एके.अंबेदकर ने बीएसएपी 9 के मैदान में प्रशिक्षण प्राप्त व प्रशिक्षु जवानों को दिए जा रहे विभिन्न प्रशिक्षण एवं अभ्यास का निरीक्षण किया। इसके पूर्व महानिदेशक को गार्ड आफ ऑनर दिया गया।

गार्ड ऑफ ऑनर देते जवान।
गार्ड ऑफ ऑनर देते जवान।

इस दौरान बीएसएपी के डीआईजी दलजीत सिंह, कमांडेंट नवीन कुमार झा, मुंगेर डीआईजी संजय कुमार एवं पुलिस अधीक्षक जगुन्नाथ रेड्डी जलारेड्डी मुख्य रूप से मौजूद थे। कमांडेंट नवीन कुमार झा ने महानिदेशक को प्रशिक्षण केन्द्र और वहां संचालित गतिविधियों, संबंधित प्रोफेशनल मुद्दों और संसाधनों पर विस्तृत जानकारियां दी।

महानिदेशक ने कहा कि भविष्य में आनेवाली चुनौतियों के लिए प्रशिक्षुओं को और बेहतर तरीके से तैयार रहने की जरूत है जिससे भविष्य में वे सीमाओं की रक्षा भी अभेद्य ढंग से किया जा सकें। उन्होंने कहा कि पुलिस जवानों को दी गई जिम्मेदारी को ईमानदारी पूर्वक कार्य करने की जरूरत है बदलते समय में पुलिस के सामने कई प्रकार की चुनौतियां आई है। इसे चुनौतीपूर्ण मानते हुए कार्य करने की जरूरत है। महानिदेशक ने कहा कि सीमा पर जिस तरह से आतंकवादियों को अत्याधुनिक ट्रेनिंग के साथ साथ सैन्य प्रशिक्षण दे रहा है, उसे देखते हुए अब बीएसएपी ने भी अपनी ट्रेनिंग प्रक्रिया में काफी बदलाव किया है। यहां भी अब आतंकवाद का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए नए रंगरूटों को कठोर प्रशिक्षण दिया जाता है, क्योंकि बीएसएपी रक्षा की पहली पंक्ति है।

दीक्षांत समारोह के दौरान ड्रिल पीटी के डेमो के जायजा लिया गया।
दीक्षांत समारोह के दौरान ड्रिल पीटी के डेमो के जायजा लिया गया।

महानिदेशक ने कहा कि सुरक्षा को सुनिश्चित करना ही बीएसएपी का पहला कर्तव्य है। जमालपुर में चुनिंदा ट्रेनरों को दी जा रही ट्रेनिंग : महानिदेशक ने कहा कि बिहार सरकार ने नए जवानों को पुलिस में नियुक्त किया है। जवानों की बेहतरी को लेकर सरकार द्वारा कई कदम भी उठाए जा रहे हैं। जवानों को बेहतर ट्रेनिंग के लिए अच्छे ट्रेनर की जरूरत पड़ती है। बीएसएपी 9 जमालपुर में ऐसे ही चुनिंदा ट्रेनरों को ट्रेनिंग दी जा रही है, जो ट्रेनर अपने अपने क्षेत्रों में जाकर नए रंगरूटों को अपने ढंग से तैयार करेगें।

खबरें और भी हैं...