कार्रवाई:हार्डकोर नक्सली मुकेश खैरा काे अमरासनी कोल से एसटीएफ ने किया गिरफ्तार, जेल

मुंगेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गिरफ्तार परमानंद टुड्‌डू। - Dainik Bhaskar
गिरफ्तार परमानंद टुड्‌डू।
  • धरहरा के आजिमगंज के नवनिर्वाचित मुखिया परमानंद टुड्डू की हत्या का है नामजद अभियुक्त
  • मुकेश के घर पर हुई थी डीलर पुत्र अपहरण मामले में फिरौती की लेन-देन

हार्डकोर नक्सली मुकेश खैरा को एसटीएफ और जिला पुलिस ने रविवार की सुबह लड़ैयाटांड थाना क्षेत्र के अमरासनी कोल जंगल स्थित उसके घर से छापेमारी कर गिरफ्तार किया। वह धरहरा प्रखंड के आजिमगंज पंचायत से नवनिर्वाचित मुखिया परमानंद टुडू हत्याकांड का नामजद अभियुक्त है। जानकारी के अनुसार गिरफ्तार हार्डकोर नक्सली मुकेश खैरा ने मुंगेर एवं लखीसराय में घटित कई नक्सली वारदात में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। गिरफ्तार नक्सली को आवश्यक पूछताछ के बाद कड़ी सुरक्षा में न्यायिक दंडाधिकारी के समक्ष प्रस्तुत कर जेल भेज दिया गया। उक्त जानकारी एसपी जगुन्नाथ रेड्‌डी जलारेड्डी ने दी। हार्डकोर नक्सली मुकेश खैरा ने गिरफ्तारी के बाद एसटीएफ एवं पुलिस के समक्ष पूछताछ में नवनिर्वाचित मुखिया परमानंद टुडू हत्याकांड में अपनी संलिप्ता स्वीकार करने के साथ ही अन्य घटना में भी अपनी संलिप्तता स्वीकार की।

नक्सली के घर में रहने की पुलिस को मिली थी सूचना
एसटीएफ को सूचना मिली थी कि मुखिया परमानंद टुडू की हत्या मामले का नामजद अाराेपित माओवादी संगठन का हार्डकोर मुकेश खैरा पिता लंगरू खैरा उर्फ रामखेलावन लड़ैयाटांड़ थानान्तर्गत अमरासनी कोल गांव अपने घर आया है। सुूचना की पुष्टि होने के बाद एसटीएफ एवं लड़ैयाटांड थाना की पुलिस ने शनिवार की रात लगभग 2 बजे उसके घर को चारों ओर से घेर लिया। इस बीच पुलिस यह पता करने में लगी रही कि घर के अंदर और कोई नक्सली है या नहीं। घर में अकेले मुकेश खैरा के होने की पुष्टि होने पर पुलिस ने रविवार की अहले सुबह लगभग 3:30 बजे उसका घर खुलवाया। इसके बाद पुलिस उसके घर के अंदर प्रवेश की और घर से ही मुकेश खैरा को गिरफ्तार कर लिया। हार्डकोर नक्सली मुकेश खैरा की गिरफ्तारी को पुलिस बड़ी कामयाबी मान रही है। गिरफ्तार मुकेश खैरा ने मुंगेर एवं लखीसराय में घटित कई नक्सली वारदात में खुद के संलिप्तता की बात स्वीकारी है।

23 दिसंबर को गला रेत कर हुई थी परमानंद टुड्‌डू की हत्या
बता दें कि नक्सलियों ने आजिमगंज पंचायत के नव निर्वाचित मुखिया परमानंद टुडू के मथुरा गांव में 23 दिसंबर 2021 की रात धाबा बोलते हुए मुखिया को नींद से जगा कर अपने साथ घर से करीब 100 मीटर दूर ले गए। जहां गला रेत कर मुखिया की निर्मम हत्या करने के बाद शव को वहीं छोड़ दिया था। इस मामले में परिजनों द्वारा नक्सलियों के डर से प्राथमिकी दर्ज नहीं कराई गई थी। लड़ैयाटांड के तत्कालीन थानाध्यक्ष नीरज कुमार के बयान पर थाना कांड संख्या 101/21 दर्ज कर 21 नक्सलियों को नामजद किया गया था। जिसमें मुकेश खैरा भी नामजद था। जिसमें से अब तब 10 नक्सलियों को गिरफ्तार कर पुलिस जेल भेज चुकी है। अक्टूबर 2021 में लखीसराय जिलांतर्गत पीरी बाजार थाना अन्तर्गत चकोर गांव निवासी डीलर भागवत प्रसाद के पुत्र दीपक कुमार अपहरण कांड में अपनी संलिप्तता स्वीकार करते हुए बताया कि फिरौती के एवज में रूपया का लेन-देन उसके घर पर ही हुआ था।

नक्सली को घर से किया गया गिरफ्तार
गुप्त सूचना पर एसटीएफ और पुलिस की टीम ने रविवार की अल सुबह लड़ैयाटांड़ थानान्तर्गत अमरासनी कोल गांव में छापेमारी कर हार्डकोर नक्सली मुकेश खैरा को उसके घर से गिरफ्तार किया गया है। मुकेश खैरा आजिमगंज मुखिया परमानंद टुडू हत्या मामले का नामजद अभियुक्त था। जो फरार चल रहा था। पूछताछ के क्रम में कई नक्सली वारदात में उसने अपनी संलिप्तता स्वीकार की है।
- कुणाल कुमार, एएसपी अभियान, मुंगेर।

खबरें और भी हैं...