महिला हार्डकोर नक्सली सखौल जंगल से अरेस्ट:नवनिर्वाचित मुखिया का सिर कर दिया था धड़ से अलग, कारी देवी को खोज रही थी पुलिस

मुंगेर2 महीने पहले

मुंगेर के आजीमगंज पंचायत के नवनिर्वाचित मुखिया परमानंद टूडू हत्याकांड में शामिल हार्डकोर नक्सली कारी देवी को मुंगेर पुलिस ने गुप्त सूचना पर गौरैया सखोल के पहाड़ी इलाके से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। पुलिस को नक्सली कारी देवी की लंबे समय से तलाश थी। बताते चलें कि मुंगेर के एसपी जेजे रेडी को नक्सली कारी देवी के छुपे होने की सूचना गौरैया सखौल जंगल में मिली थी।

एसपी के निर्देश पर एएसपी अभियान कुणाल कुमार के नेतृत्व में एसटीएफ जमालपुर, जिला आसूचना इकाई की टीम तथा लङैयाटाङ थाना पुलिस ने गोरैया सखोल जंगल में सर्च अभियान चलाया और नक्सली कारी देवी इस दौरान पुलिस के हत्थे चढ़ गई। एएसपी अभियान कुणाल कुमार ने बताया कि गिरफ्तार नक्सली कारी देवी मुंगेर के बहुचर्चित आजीमगंज पंचायत के नवनिर्वाचित मुखिया परमानंद टूडू हत्याकांड सहित लखीसराय के पीरी बाजार थाना के नक्सली वारदात कांड में गिरफ्तार चल रही थी ।उन्होंने बताया कि मुंगेर जिले के लड़ैयाटाङ तथा लखीसराय जिले के पीरी बाजार थाना में गिरफ्तार नक्सली कारी देवी के विरुद्ध हत्या सहित अन्य मामले दर्ज हैं।

नक्सलियों ने सर धड़ से अलग कर हत्या कर दी थी मुखिया की

परमानंद 24 दिसंबर 2021 को नक्सलियों ने परमानंद को रात को घर से बुलाकर गर्दन काट कर निर्मम तरीके से हत्या कर दिया था।परमानंद कोरा नवनिर्वाचित मुखिया था। घटना के संबंध में बताया जाता है कि परमानंद टुड्डू नक्सलियों के भय से घर में नहीं रहता था। लेकिन उस दिन खाना खाने जैसे ही घर आया नक्सलियों ने इसके घर पर धावा बोल दिया। घर के अन्य सदस्यों को एक कमरे में बंद कर परमानंद को घसीटते हुए गांव के बीच चबूतरे पर ले जाकर सर को धड़ से अलग कर दिया और जाते-जाते नक्सलवाद जिंदाबाद के नारे लिखे पर्ची एवं पुलिस की मुखबिरी का आरोप लगाकर इसकी हत्या से संबंधित पर्चा भी फेककर नक्सली भागे थे।

खबरें और भी हैं...