तारापुर आरएस कॉलेज का परीक्षा केंद्र बदलने की मांग:छात्र-छात्राओं ने प्रधानाचार्य-शिक्षकों को बनाया बंधक, मुख्य द्वार पर ताला मार घंटों किया प्रदर्शन

मुंगेर9 दिन पहले
धरने पर बैठे स्टूडेंट।

स्नातक पार्ट वन तथा स्नातक पार्ट 2 का परीक्षा केंद्र मुंगेर जिला के तारापुर से 40 किलोमीटर दूर नौवागढ़ी किए जाने का पुरजोर विरोध शनिवार को छात्र-छात्राओं ने तारापुर आरएस कॉलेज में किया। विरोध कर रहे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद तारापुर इकाई के सदस्यों ने बताया कि एक दिन पहले प्राचार्य को मांग पत्र समर्पित किया गया था। आक्रोशित छात्र एवं छात्राओं एवं विद्यार्थी परिषद के सदस्यों द्वारा आरएस कॉलेज महाविद्यालय के मुख्य प्रवेश द्वार पर तालाबंदी किया कर लगभग 1 घण्टे तक प्रदर्शन किया। वहीं प्राचार्य और महाविद्यालय कर्मियों को उनके कार्यालय कक्ष में बंधक बनाया गया।

प्रदर्शन कर रहे छात्र-छात्राओं ने कहा कि अगर हमारी मांगे पूरी नहीं हुई तो हम सब अनशन पर ही बैठे रहेंगे। छात्र छात्राओं की शारीरिक स्थिति खराब हुई तो इसकी पूरी जिम्मेवारी विश्वविद्यालय प्रशासन एवं कॉलेज प्रशासन की होगी। मौके पर मौजूद कॉलेज उपाध्यक्ष अभिषेक सिंह सूरज माधव आशीष आनंद पिंटू कुमार निशा कुमारी नेहा कुमारी मनीषा अजहर फिल्म कुमारी पूनम कुमारी खुशी झा सहित बड़ी संख्या में छात्र छात्राएं थे।

प्राचार्य डॉ उदय शंकर दास ने बताया कि परीक्षा केंद्र बदलने की मांग छात्र छात्राओं के द्वारा किया जा रहा है। यह मेरे प्रभाव क्षेत्र में नहीं है। परीक्षा केंद्र का निर्धारण विश्वविद्यालय के स्तर पर होता है। परीक्षा नियंत्रक रजिस्ट्रार तथा कुलपति के संज्ञान में वस्तुस्थिति को दिया गया है। कुलपति द्वारा पहले परीक्षा केंद्र कहां होता था, कितने परीक्षार्थी हैं आदि की पूरी जानकारी ली गई है। 1200 के करीब परीक्षार्थी हैं। सभी वर्ष लगभग इसी के आसपास की संख्या होती है। कुलपति को यह बताया गया कि पिछले 2 वर्ष से बीएड कॉलेज में परीक्षा केंद्र बनाया जाता था। कुलपति ने प्राचार्य को लिखित रूप से जानकारी देने को कहा है।