• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Munger
  • There Was No Arrangement Of Light In The Examination, The Center Superintendent Of DJ College Was Surrounded By Questions

मोबाइल की रोशनी में BA की परीक्षा:मुंगेर में मौसम हुआ खराब तो छा गया अंधेरा, शिक्षक बोले- मोबाइल का टॉर्च जला लो...

मुंगेरएक महीने पहले

बिहार में कभी पुलिस गाड़ी की हेडलाइट में तो कभी दरी पर बैठाकर परीक्षा होने की तस्वीरें सामने आती रहती हैं। इसके बावजूद विभाग बेपरवाह है। अब मुंगेर से मोबाइल टॉर्च में परीक्षा होने का वीडियो सामने आया है।

दरअसल, बुधवार को महाविद्यालयों के बीए पार्ट वन की परीक्षा हो रही थी। आरडी एंड डीजे कॉलेज में दोपहर 11 बजे से दोपहर 12:30 बजे तक इतिहास की परीक्षा हुई। इस परीक्षा में अचानक मौसम खराब होने के कारण परीक्षा हॉल में अंधेरा छा गया। कॉलेज में बिजली कनेक्शन तो था लेकिन लाइट कट गई।

जब जेनेरेटर चलाने की बात आई तो वह भी खराब निकला। छात्र शोर करने लगे। इसके बाद इनविजीलेटर ने टॉर्च जलाने की परमिशन दे दी। परीक्षार्थियों ने वर्जित होने के बावजूद मोबाइल के टॉर्च के सहारे परीक्षा देना शुरू कर दिया।

इसी बीच किसी परीक्षार्थी ने वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर जारी कर दिया। परीक्षा हॉल में मोबाइल लाने पर प्रतिबंध होता है। इसके बावजूद परीक्षा हॉल के अंदर सभी परीक्षार्थियों के पास मोबाइल था।

डीजी कॉलेज में चल रही थी परीक्षा।
डीजी कॉलेज में चल रही थी परीक्षा।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने जताया विरोध

मोबाइल टॉर्च के सहारे परीक्षा देने का वीडियो सामने आते ही अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के सदस्य विक्की आनंद ने कहा, 'मुंगेर विश्वविद्यालय प्रवेश, परीक्षा, परिणाम तीनों में फिसड्डी है। परीक्षा नियंत्रण विभाग परीक्षा के पूर्व यही तैयारी किए थे। परीक्षा हॉल में किस परिस्थिति में मोबाइल ले जाने की अनुमति दी गई। अगर अंधेरा था तो मोमबत्ती या जनरेटर की व्यवस्था पहले से क्यों नहीं की गई। अब उन विद्यार्थियों का क्या होगा। मोबाइल अगर अंदर है तो क्या कदाचार नहीं हुआ होगा।'

मोबाइल का टॉर्च जलाकर परीक्षा देती छात्रा।
मोबाइल का टॉर्च जलाकर परीक्षा देती छात्रा।

परीक्षा नियंत्रक बोले- सेंटर सुपरिटेंडेंट को दिया जाएगा नोटिस

मुंगेर विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक राम आशीष ने कहा कि डीजे कॉलेज के सेंटर सुपरिटेंडेंट सजंय भारती से सवाल-जवाब किया गया है। उन्हें नोटिस दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी महाविद्यालय को निर्देशित किया गया था कि लाइट की वैकल्पिक व्यवस्था के रूप में जनरेटर या कैंडल की व्यवस्था अवश्य करेंगे। लेकिन किन परिस्थितियों में विद्यार्थियों के पास मोबाइल था। यह एक गंभीर विषय है। संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर कार्रवाई की जाएगी। जांच टीम बैठा दी गई है।