पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आयोजन:कविता आदमी होने की तमीज है, इसी कारण हिंदी विभिन्न देशों में बोली व समझी जाती है : डॉ. ऋतंभर

अरेराज14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अरेराज के महंत शिव शंकर गिरि महाविद्यालय में काव्य पाठ का हुआ आयोजन

महंत शिव शंकर गिरि महाविद्यालय में हिंदी दिवस के अवसर पर हिंदी विभाग की ओर से काव्य-पाठ का आयोजन किया गया। अध्यक्षता प्राचार्य डॉ. प्रदीप कुमार ने की। कार्यक्रम में महाविद्यालय के छात्र एवं छात्राओं ने स्वलिखित कविताओं का पाठ किया। कार्यक्रम में बच्चों ने भी ऑनलाइन कविताओं का पाठ किया। अध्यक्षीय संबोधन में प्राचार्य ने कहा कि हिन्दी रोजगार की भाषा है। हिन्दी में अनेक संभावनाएं हैं। ऐसे कार्यक्रमों से बच्चों में हिंदी के प्रति लगाव बढ़ेगा और उनकी लेखनी में निखार आएगा।

मुख्य अतिथि आरडीएस कॉलेज मुजफ्फरपुर के हिंदी विभागाध्यक्ष एवं कवि डॉ. रमेश ऋतंभर ने कहा कि हिंदी कविता आदमी होने की तमीज है। इसी कारण यह भाषा विभिन्न देशों में बोली और समझी जाती है। संचालन हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ. रमेश कुमार और धन्यवाद ज्ञापन डॉ राधेश्याम ने किया। इस अवसर पर महाविद्यालय के निशु, अनिल, पूजा, कृतिका, विकास, नूर आसमा, रिचा, हेमंत, नीतू, रानी, प्रवीण पंकज, कीर्तिका, गोल्डी कुमारी ने स्वरचित कविताओं का पाठ किया।कार्यक्रम में सैकड़ों छात्र-छात्राएं ऑनलाइन माध्यम से उपस्थित थे।

इधर, हिंदी में काम करने का लिया गया संकल्प

भुवन मालती शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय में हिंदी दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें संकल्प लिया गया कि कम से कम आज के दिन सभी कार्य का संपादन हिंदी में किया जाएगा। केवल उन्हीं कार्यों का निष्पादन अंग्रेजी में किया जाएगा, जिनकी बाध्यता होगी। कार्यक्रम में शिक्षकों व कर्मचारियों ने राजभाषा हिंदी के प्रयोग के साथ-साथ अपनी मातृभाषा को राजभाषा के अनुरूप समायोजन का संकल्प लिया। मौके पर प्रभारी प्राचार्य मिथिलेश कुमार शुक्ल, डॉ नवदीप रंजन, अंजनी कुमार गुप्ता, चंद्र प्रकाश, प्रवीण बाबू, अमित कुमार, मणिंद्र प्रताप सिंह भी थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि वालों से अनुरोध है कि आज बाहरी गतिविधियों को स्थगित करके घर पर ही अपनी वित्तीय योजनाओं संबंधी कार्यों पर ध्यान केंद्रित रखें। आपके कार्य संपन्न होंगे। घर में भी एक खुशनुमा माहौल बना ...

और पढ़ें