यूरिया के लिए परेशान:जान जाखिम में डालकर किसान इफ्को बाजार में 10-10 घंटे लाइन में खड़े, फिर भी खाद नहीं

अरेराज16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अरेराज के लौरिया स्थित इफ्को बाजार में यूरिया के लिए लगी किसानों की लंबी कतार - Dainik Bhaskar
अरेराज के लौरिया स्थित इफ्को बाजार में यूरिया के लिए लगी किसानों की लंबी कतार
  • कोरोना गाइडलाइंस की उड़ रही धज्जियां, किसान बोलें-यूरिया के बिना खेती हो रही प्रभावित, निजी और सरकारी दुकान का चक्कर लगा कर थक गए

क्षेत्र में खाद एवं बीज की भारी समस्या के बाद अब यूरिया को लेकर क्षेत्र के किसान परेशान हैं। बारिश के बाद खेतों में यूरिया की जरूरत को देखते हुए किसान यूरिया के लिए सरकारी एवं निजी दुकानों के चक्कर लगा रहे हैं। कई दिनों के बाद शुक्रवार को इफ्को बाजार में यूरिया का खेप पहुंचने के बाद लोग इफ्को बाजार की ओर दौड़ पड़े। सैकड़ों की संख्या में किसान कतारबद्ध हो गए। लोगों की भारी भीड़ से वहां अफरातफरी का माहौल हो गया।किसान एन एन तिवारी,शिवाकांत सिंह,गोपाल शर्मा,वीरेंद्र प्रसाद,जगत नारायण प्रसाद, विश्वेश्वर पासवान,राजदेव पासवान आदि बताते हैं कि किसी भी मूल्य पर अरेराज में यूरिया उपलब्ध नहीं है। 10 घंटे से लाइन में खड़े हैं, फिर भी यूरिया मिलेगी की नहीं इसकी गारंटी नहीं है। कल खाली हाथ लौटे थे।

कालाबाजारी के लिए जा रहे दो ट्रेलर खाद को ग्रामीणों ने पकड़ा

बगही में कालाबाजारी के लिए जा रहे दो टेलर खाद को ग्रामीणों ने पकड़ कर पुलिस को सौंप दिया। मामले को लेकर अधिकारी जांच में जुटे है। बगही पंचायत के आक्रोशित ग्रामीणों ने बताया कि प्रखंड के बगही पंचायत में पैक्स अध्यक्ष के गोदाम से गुरुवार रात दो बजे के करीब चोरी छिपे इफको कंपनी का यूरिया खाद निकाल कर कालाबाजारी के लिए लेकर जा रहे थे। जिससे एन मौके पर पहुंच खाद की गाड़ी को रोक कर स्थानीय मुखिया पति सोनालाल सहनी को सूचना दिया। मौके पर पहुंच मामले की जानकारी ली और प्रशासन को सूचना दी।

खाद की कालाबाजारी को लेकर एनएच जाम कर किसानों ने किया प्रदर्शन

पिपरा| थाना क्षेत्र के गौरे मठ के समीप स्थित इफको केंद्र से यूरिया खाद की कालाबाजारी को लेकर शुक्रवार को विभिन्न गांवों के किसानों ने एनएच 42 को जाम कर विरोध प्रदर्शन किया। किसानों का आरोप था कि केंद्र पर जब किसान खाद के लिए आते हैं तो उन्हें स्टॉक की कमी बता कर लौटा दिया जाता है। कई किसानों ने निर्धारित दर से अधिक मूल्य पर खाद की बिक्री किए जाने का भी आरोप लगाया। किसानों द्वारा सड़क जाम की सूचना पर बीएओ राजदेव रंजन व सपुलिस ने ग्रामीणों को समझा- बुझा कर जाम को समाप्त कराया।

खबरें और भी हैं...