नेपाली बाघिन के प्यार में शावक की ले ली जान:मेटिंग में बाधक बन रही थी 8 माह की शावक, VTR के बाघ ने मार डाला

बगहा4 महीने पहले
बुधवार को वीटीआर में मृत मिली 8 माह की शावक।

नेपाल की बाघिन के प्रेम में भारत के बाघ ने आठ माह की फीमेल शावक की जान ले ली। शावक दोनों के मेटिंग के बीच बाधा बन रही थी। इसी वजह से बाघ ने ही उसे रास्ते से हटा दिया। यह मामला बिहार के वाल्मीकि टाइगर रिजर्व का है। जहां बुधवार को 8 माह की एक शावक का शव मिला था। अचानक हुई शावक की मौत से वन विभाग चौकन्ना हो गया था। वन विभाग ने टीम गठित कर मौत के कारणों का पता करने में जुट गया। इस दौरान पता चला कि शावक की मौत कालेश्वर मंदिर के कंपाउंड नंबर T1 में हुई थी। यह सोनहा नदी के किनारे स्थित है। सोनहा नदी भारत और नेपाल दोनों सीमाओं को बांटती है।

3 और 4 जनवरी को बाघ को देखा गया

वन संरक्षक हेमकांत राय ने बताया, '3 और 4 जनवरी को इस क्षेत्र के पास एक बाघिन को देखा गया था। इसका मिलान करने पर पता चला कि वह नेपाल की रहने वाली थी। वहीं, एक बाघ को भी देखा गया था। वह भारत का रहने वाला है। उसे पहले भी चिह्नित किया गया है।'

राय ने बताया, 'बाघ-बाघिन के साथ मेटिंग करना चाह रहा था। इसमें शावक बाधा बन रही थी। इसी कारण बाघ ने शावक को मार डाला। शावक की उम्र करीब 8 माह के आसपास थी। उसके अभी दूध के भी दांत नहीं टूटे थे। बाघिन का पग मार्ग नेपाल की तरफ जाते हुए देखा गया है।'

बता दें, पिछली गणना के अनुसार, अब VTR में 43 वयस्क और 7 शावक बाघ बचे हैं।

2021 में इससे पहले तीन बाघों की हुई है मौत

  • 31 जनवरी 2021 को VTR के गोबर्धना वन रेंज के सिरिसिया वन क्षेत्र के पास बाघ का शव बरामद किया गया था। इसमें वर्चस्व की लड़ाई को लेकर एक बाघ ने दूसरे को मार डाला था।
  • 13 अक्टूबर 2021 को VTR के मांगुराहा रेंज में एक बाघ का शव मिला था। मौत दो बाघों के आपसी संघर्ष के कारण हुआ था।
  • 12 दिसंबर 2021 को एक बाघिन की मौत हुई थी। VTR के चकरसन मानपुर के खेत में बाघिन का शव मिला था। बाघिन की उम्र करीब 10 साल के आसपास थी, जो दो बार गर्भवती भी हो चुकी थी।
खबरें और भी हैं...