हरहा नदी में डूबने से युवती की मौत:बगहा में 5 घंटे लगातार मशक्कत के बाद युवती की लाश को निकाला गया, फूल बहाने गई तो फिसला गया था पैर

बगहा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एनडीआरएफ व स्थानीय गोताखोरों की मदद से युवती के शव को बाहर निकाला गया। - Dainik Bhaskar
एनडीआरएफ व स्थानीय गोताखोरों की मदद से युवती के शव को बाहर निकाला गया।

बगहा के हरहा नदी में डूबने से एक युवती की मौत हो गई. मौत के बाद युवती के घर में मातमी सन्नाटा छा गया है। घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है। घटना के बाद एनडीआरएफ की टीम को सूचना दिया गया। सूचना के तुरंत बाद ही एनडीआरएफ की टीम घटनास्थल पर पहुंचकर शव को ढूंढने में लग गाई। एनडीआरएफ की टीम ने 5 घंटे तक मशक्कत कर शव को नदी से निकाला। बगहा पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर अनुमंडलीय अस्पताल पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

मृतका की पहचान चंडी स्थान निवासी कन्हैया प्रसाद कुशवाहा की 22 वर्षीय पुत्री गुड़िया के रूप में हुई है। परिजनों ने बताया कि शनिवार के दिन ऋषि पंचमी का पूजा घर में किया गया। रविवार को पूजा की सामग्री और फूलों को नदी में प्रवाहित करना था। घर के कुछ दूरी पर हरहा नदी निकलती है। उसी में लड़की फूलों को प्रवाहित करने गई। इसी दौरान उसका पैर फिसल गया, युवती नदी में चली गई। हरहा नदी का पानी यहां पर काफी गहरा है। जिसके वजह से युवती बाहर नहीं निकल पाई।

सूचना के बाद प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची। एनडीआरएफ व स्थानीय गोताखोरों की मदद से युवती के शव को बाहर निकाला गया। जैसे ही बात गांव तक पहुंची, लोगों का जमावड़ा नदी के पास लग गया।

खबरें और भी हैं...