पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

दहशत:खरपोखरा में रेल ट्रैक पर पहुंचा मगरमच्छ, ग्रामीणों की मदद से पकड़ा, टीम ने गंडक नदी में छोड़ा

बगहा24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • लोगों ने मगरमच्छ को पकड़ एक खेत में लकड़ी के खूटे मे बांध दिया, फिर पहुंची टीम

बगहा खैरपोखरा रेलवे खण्ड के खैरपोखरा स्टेशन के लाइन नम्बर तीन पर मगरमच्छ को देख स्टेशन पर कार्यरत कर्मियों में भय कायम हो गया। रेलवे कर्मियों ने बगल के महादलित टोला में लोगों को इसकी जानकारी दी। सूचना पर आए लोगों ने मगरमच्छ को पकड एक खेत में लकड़ी के खुंटे मे बांध दिया। वही खैरपोखरा स्टेशन पर कार्यरत स्टेशन मास्टर अशोक देव ने बताया कि शुक्रवार के देर रात्री एक मालगाड़ी पासिंग कराने के लिए कर्मी जब स्टेशन पर बाहर निकले तो देखा कि एक मगरमच्छ रेलवे लाइन तीन पर इधर उधर हो रहा है।

उन्होंने बताया कि इसकी सूचना बगल के महादलित टोले के लोगो को देते हुए पुनः रेलवे विभाग के टीआई मो. कलीम को भी दिया गया। जिसपर टीआई ने इसकी सूचना वन विभाग के अधिकारियों को दिया। लेकिन सूचना पाने के बाद भी सुबह के 11बजे तक वन विभाग के अधिकारियों ने उक्त स्थल पर नही पहुंचा। वही महादलित टोला मन बसे लोगों ने बताया कि यह बरसात के पानी मे कही से चलकर गांव के तरफ आया होगा और उसके बाद रेलवे ट्रैक पर चढ़ गया होगा। खैरपोखरा गांव निवासी किशोर मुसहर ने बताया कि मगरमच्छ के डर से लोग भागते नजर आ रहे है। वही महादलित टोले के लोगों ने इसकी सूचना भी पूर्व प्रमुख जय प्रकाश सिंह को भी दिया। उनके द्वारा पुनः इसकी सूचना बगहा वन क्षेत्र कार्यालय को दी गयी।

सूचना के आलोक में वनपाल अरविंद दुबे के नेतृत्व में मौके पर पहुंची वनकर्मियों को टीम ने मगरमच्छ को अपने कब्जे में लेकर वन क्षेत्र कार्यालय लायी। इस बाबत पूछे जाने पर बगहा वन क्षेत्र पदाधिकारी मनोज कुमार ने बताया कि मगरमच्छ को जांच पड़ताल के बाद गंडक नदी में छोड़ दिया गया। उन्होंने बताया कि रिहाइशी क्षेत्र से नदी नालों व वीटीआर से सटे हुए हैं। जिस कारण कभी कभार वन्यजीव रास्ता भटककर पहुंच जाते हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें