बेतिया में तीन दोस्तों का एक साथ उठेगा जनाजा:एक ही कब्रगाह में दफन भी किया जाएगा, सड़क हादसे में तीनों की हुई थी मौत

बेतिया7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बेतिया के लौरिया थाना क्षेत्र के बेतिया-लौरिया मुख्य मार्ग NH-727 पर श्रेया गैस एजेंसी के पास बाइक टक्कर में रविवार को 4 लोगो की मौत हो गई थी। जिसमें एक बाइक पर तीन दोस्त सवार थे। अब तीनों का जनाजा एक साथ ही घर से निकलेगा। तीनों के शव को एक ही कब्रगाह में दफन किया जाएगा। पोस्टमॉर्टम के बाद गांव में जैसे ही तीनों का शव पहुंच गांव में हाहाकार मच गया। पूरा गांव गमगीन हो गया।

तीन शवों को एक साथ देखकर पूरे गांव में भय व्याप्त हो गया। परिजनों को सांत्वना देने वालों की भीड़ लग गई । मस्जिदों से नमाज के बाद जनाजा उठने का समय मुकर्रर कर दिया गया। तीनों के जनाजे गांव से एक साथ उठाए जाएंगे और तीनों को एक ही कब्रगाह में दफन किया जाएगा ।

हादसे में तीन दोस्तों की हुई मौत
बाइक की आमने-सामने की भिड़ंत में तीनों की मौत हुई थी। सोनू मियां, शोएब मियां और हवलदार मियां तीनों बचपन के ही दोस्त थे। गांव वालों ने बताया कि ज्यादातर तीनों एक साथ दिखाई देते थे। अगले साल सोनू और शोएब मैट्रिक का एग्जाम देने वाले थे। दोनों सेंटर को लेकर तैयारी में लगे थे। वहीं, हवलदार मियां ने बचपन में ही पढ़ाई छोड़ दी थी। बाहर कमाने के लिए चला गया था। गांव आने पर तीनों दोस्त एक साथ घूमा करते थे। हमेशा की तरह रविवार को भी लौरिया घूमने के लिए गए थे। इस दौरान सड़क हादसे में तीनों की जान चली गई।

शादी को हो गए थे 5 साल
वहीं, सड़क हादसे में चौथी मौत शशि कुमार सिंह की हुई। मृतक फुलवरिया निवासी राजकुमार सिंह के पुत्र थे । पूरे घर की जिम्मेदारी शशि पर ही थी। शशि से एक छोटा भाई है, जिसकी अभी शादी नहीं हुई है। पिता की उम्र ज्यादा है। पिता के सभी कारोबार को शशि ही देखते थे । शशि की शादी 5 साल पहले बेतिया स्थित काली बाग के मदन पटेल की पुत्री से हुई थी। हालांकि 5 साल शादी बीतने के बाद भी शशि के बच्चे नहीं थे।

पिता ने कहा- चंद मिनट पहले छोड़ कर गया था बेटा
बेटे की मौत के बाद पिता की स्थिति काफी खराब हो गई है। पिता रोते हुए बस यही कह रहे हैं कुछ मिनट पहले ही बेटा घर छोड़कर मुझे गया था। यह क्या हो गया भगवान को मुझे ले जाना चाहिए था। उसके बिना कैसे जिंदा रह पाएंगे।