पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही:एक मजदूर का 3 जॉब कार्ड, एक साल पर बने दो कार्ड में उम्र का अंतर 21 साल

बथनाहा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लाल घेरे में रूपेश कुमार बैठा के दो जॉब कार्ड एक ही नंबर के पीछे लिखा अंग्रेजी का अक्षर। - Dainik Bhaskar
लाल घेरे में रूपेश कुमार बैठा के दो जॉब कार्ड एक ही नंबर के पीछे लिखा अंग्रेजी का अक्षर।
  • भंगही पंचायत के वार्ड 15 में श्यामनगर के मजदूर के पास योजना का तीन कार्ड
  • घपला करने के लिए दो जाॅब की संख्या में अंग्रेजी का अक्षर जोड़ किया अलग

मनरेगा योजना में नित्य नए-नए खुलासे के बाद एक-एक कर के घपले की परत खुल रही है। इसी कड़ी में गड़बड़झाले का नया मामला भंगही पंचायत में उजागर हुआ है। जहां वार्ड 15 श्यामनगर निवासी रूपेश कुमार बैठा का मनरेगा के तहत तीन जॉब कार्ड बना दिया गया है। पहला जॉब कार्ड 8 फरवरी 2010 को मनरेगा कार्यालय नरपतगंज से निर्गत किया गया। जबकि दूसरा जॉब कार्ड 3 जनवरी 2011 को तथा तीसरा 17 मार्च 2013 को निर्गत किया गया है। लोगों के आंख में धूल झोंकने के लिए कार्ड बनाने वाले ने बड़ी ही चालाकी से दो कार्ड एक ही संख्या में अंतर दिखाने के लिए उसमें अंग्रेजी का अक्षर जोड़ दिया है। वहीं 12 महीने के बाद बने एक कार्ड में कार्डधारी की उम्र 19 साल तो दूसरे में 40 वर्ष दिखाई गई है।
राशि के भुगतान की जानकारी नहीं, बैंक का नाम भी अलग
जबकि पहला जॉब कार्ड में बैंक का नाम स्टेट बैंक ऑफ इंडिया दर्शाया गया है। तो वही दूसरा जॉब कार्ड में बैंक नाम का उल्लेख ही नहीं किया गया है। जबकि दोनों ही जॉब कार्ड में बड़े ही चालाकी से रूपेश कुमार बैठा का फोटो को गायब कर दिया गया है। वर्ष 2010 में बने जॉब कार्ड संख्या 2283 में मजदूरी राशि 36240 रुपया, वर्ष 2011 में बने जॉब कार्ड संख्या 2283 ‘ए’ में मजदूरी 1872 रुपया दिखाई गई है। वहीं मुकेश कुमार व रूपेश कुमार के नाम से साल 2013 में जॉब कार्ड 01060362946 तत्कालीन मनरेगा सचिव के हस्ताक्षर से निर्गत किया गया है। इस राशि के भुगतान की जानकारी रूपेश कुमार बैठा को भी नहीं है ।

योजना के तहत पौधरोपण की अ‌ाधी राशि का ही भुगतान
जबकि रूपेश कुमार बैठा की माने तो मनरेगा योजना के तहत पौधरोपण तथा अन्य कार्य के लिए आधी अधूरी ही राशि मिली। अन्य राशि को बड़ी चतुराई के साथ बिचौलियों के द्वारा निकाल लिया गया। जिसकी भनक रूपेश को नहीं लगी। रूपेश कुमार बैठा कहते हैं कि 2011 में मेरे नाम पर मनरेगा जॉब कार्ड कैसे बना किसने बनवाया इसकी जानकारी मुझे नहीं है । मुकेश ने कहा कि मेरा बैंक अकाउंट स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के सीएसपी फुलकाहा में खुलवाया गया लेकिन एकाउंट आज तक नहीं मिला जिस कारण बैंक से राशि भी नहीं निकाल पाया अभी एकाउंट में कितनी राशि है मुझे मालूम नहीं। मुकेश ने कहा कि पहले ग्रामीण डाक घर भंगही के खाता में मनरेगा की राशि आती थी जिस खाता को डाक घर में वर्ष 2013 में ही जमा कर लिया गया उसके बाद मेरा खाता सीएसपीमें मनरेगा राशि भेजने के लिए खुलवाया गया था। जबकि मनरेगा जॉब कार्ड के निर्माण में पीआरएस की भूमिका अहम होती है। पीआरएस के अनुशंसा के वाद ही मनरेगा जॉब कार्ड को खोला जाता है। अब सवाल यह उठता है कि इतने बड़े पैमाने पर भंगही पंचायत में मनरेगा योजना अंतर्गत मजदूरों के लिए बनने वाले जॉब कार्ड में हेराफेरी का मामला सामने आने के बाद भी विभाग कुम्भकर्णी निद्रा में अबतक सोई हुई है या फिर जानबूझ कर मामले का लीपापोती कर रही है ।

जांच कर दोषी पर होगी कार्रवाई
जांच करा कर दोषी व्यक्तियों पर कार्रवाई की जाएगी प्रथम दृष्टया इसके लिए पीआरएस को ही जिम्मेवार माना जाएगा अगर जाँच में मामला सत्य पाया जाता है तो आर्थिक अपराध मानकर पीआरएस पर कार्रवाई की जाएगी ।
प्रमोद प्रियदर्शी, मनरेगा पीओ, नरपतगंज।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई लाभदायक यात्रा संपन्न हो सकती है। अत्यधिक व्यस्तता के कारण घर पर तो समय व्यतीत नहीं कर पाएंगे, परंतु अपने बहुत से महत्वपूर्ण काम निपटाने में सफल होंगे। कोई भूमि संबंधी लाभ भी होने के य...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser