कौतूहल / बूढ़ी नदी में बह रहा तैलीय पदार्थ, लोगों को हैरानी

Oily substance flowing in old river, people surprised
X
Oily substance flowing in old river, people surprised

  • नेपाल में बंद सुगर मिल को साफ करने के बाद तैलीय कचरा नदी में बहाया गया : मुखिया

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

बथनाहा. नेपाल से निकल कर सोनापुर पंचायत होकर बहने वाली बूढ़ी नदी के जल में शुक्रवार को तैलीय तरल पदार्थ बहता पाया गया है। स्थानीय लोगों के मुताबिक यह गुरुवार की रात से ही बहते देखी गई है। बूढ़ी नदी का उदगम स्थल नेपाल के सुनसरी जिला अंतर्गत चिमरी नामक स्थान से है।

जहां से प्रारम्भ होकर मीरगंज स्थित परमान नदी में आकर इसका समागम हो जाता है। फिलहाल नदी के जल के साथ तैलीय तरल पदार्थ को बहता देख स्थानीय लोगों में काफी उत्सुकता एवं आश्चर्य का  भाव देखने में आ रहा है। लोग आपस में ही इसकों लेकर कई तरह के बातें बना रहे हैं।

आखिर यह तेल नदी में आया कहां से? नदी के अंदर कहीं कोई क्रूड ऑयल का स्रोत तो छुपा हुआ नहीं है। नेपाल से क्या कोई फैक्ट्री से बहाया गया केमिकल है या फिर कहीं कोई तेल का टैंकर तो नदी में नहीं पलट गया? अनेको सवाल हैं जिनका जवाब तो प्रशासनिक जांच के बाद ही सुलझेगा कि वास्तव में नदी में बहने वाला तैलीय पदार्थ है क्या ? हालांकि पंचायत के पूर्व मुखिया मनोज मंडल की माने तो यह नेपाल के सुनसरी जिला अंतर्गत बेलहा में अवस्थित ईस्टर्न सुगर मिल के केमिकल एवं तेल से साफ कर बहाया गया तैलीय कचरा है।

नेपाली सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार पूर्व मुखिया ने बताया कि लॉकडाउन के दरम्यान बन्द पड़े सुगर मिल को साफ किया गया है जिसका सारा तैलीय कचरा नदी में बहा दिया गया। जिससे नदी में तेल बहता देखा गया। उन्होंने कहा कि पूर्व में भी नेपाल से फैक्ट्री आदि का कचरा नदी में बहाया जाता रहा है।

जिससे नदी का जल भी प्रदूषित हो चुका है। जिसका पानी भी अब मवेशी नहीं पीना चाहते। यदि पीते हैं तो बीमार हो जाते हैं।  इस संदर्भ में पूछे जाने पर नरपतगंज के सीओ निशांत कुमार ने कहा कि नदी के जल में तैलीय तत्व के बहने की सूचना उन्हें भी मिली है। मगर क्वारेंटाइन सेंटर पर व्यस्त होने की वजह से नहीं जा सके हैं। उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच कर इसकी जानकारी वरीय पदाधिकारी को दी जाएगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना