दीपोत्सव पर 1001 कन्याओं ने भव्य कलश शोभा यात्रा निकाली:बेतौना, सरिसब, संसारी पोखरा, ढंगा, त्योंथ, बरहा में शुरू हुई काली पूजा, भक्तिमय हुआ पूरा वातावरण

बेनीपट्टी25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बेनीपट्टी के बेतौना में कलश शोभा यात्रा में शामिल श्रद्धालु। - Dainik Bhaskar
बेनीपट्टी के बेतौना में कलश शोभा यात्रा में शामिल श्रद्धालु।

प्रखंड के बेतौना गांव में आयोजित 8वीं काली पूजा को लेकर विगत गुरुवार को दीपोत्सव के दिन 1001 कन्याओं के द्वारा भव्य भव्य कलश शोभा यात्रा निकाली गई। कलश शोभा यात्रा में शामिल कन्याएं पूजा स्थल से आध्यात्मिक धुनों-जयकारों, गाजा-बाजा, साधु-संतों, पंडितों व ग्रामीण लोगों के साथ चलकर संपूर्ण बेतौना व कछड़ा गांव का दौरा कर गांव से पश्चिम के चौर स्थित थुमहानी नदी के तट पर पहुंची।

फिर नदी से जल कलश में भरकर पुनः पूजा स्थल पर लौट गई। श्री श्री 1008 श्री दक्षिण कालिका पूजनोत्सव मिथिला नवयुवक संघ के द्वारा बेतौना में इस साल 4 दिवसीय 8वीं पूजा मनाई जा रही है। पूजा समिति के अध्यक्ष मुकेश झा ने बताया कि पिछले आठ वर्षों से मां काली की प्रतिमा बनवाकर बेतौना गांव में सुख, शांति, समृद्धि व खुशहाली के लिए पूजा आयोजित की जा रही है।

इस साल कोविड-19 के गाइडलाइन के अनुसार पूजा मनाई जा रही है। संपूर्ण बेतौना गांव वासियों के सहयोग से पूजा का आयोजन हो रहा है। इस मौके पर प्रभात कुमार कर्ण उर्फ बबलू, अभिराम झा, मुकेश झा, विजय पासवान, निरंजन पासवान, जितेंद्र भंडारी, मनोज झा, धीरज कुमार लाल, अखिलेश मिश्रा, आदित्यनाथ मिश्र, गुलाब मंडल आदि मौजूद थे।

वहीं दूसरी ओर प्रखंड के सरिसब, संसारी पोखरा बेनीपट्टी, त्योंथ, बरहा आदि गांवों में भी दीपोत्सव के बाद काली पूजनोत्सव की धूम मची हुई है। इन गांवों में दीपावली की रात से ही मां काली की पूजा शुरू हो गई है। प्रखंड के विभिन्न गांवों में काली पूजा के आयोजन से माहौल भक्तिमय बना है।

खबरें और भी हैं...