पेंटिंग प्रतियोगिता:राज्य और केंद्र सरकार लोककला को प्रोत्साहित करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है : एमएलसी

बेनीपट्टी24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

क्षेत्र के काली मंदिर शुभंकरपुर (लोहा) के प्रांगण में विगत शुक्रवार की शाम को नॉलेज फ़र्स्ट एकेडमी के तत्वावधान में आयोजित मिथिला पेंटिंग प्रतियोगिता में विवेक कुमार ने प्रथम स्थान हासिल किया। वहीं, रूपम कुमारी को दूसरा जबकि आरती कुमारी को तीसरा स्थान मिला। शीर्ष तीन विजेताओं को शील्ड, प्रशस्ति पत्र के साथ नकद पुरस्कार से सम्मानित किया गया। जबकि शीर्ष दस प्रतिभागियों को मेडल और प्रशस्ति पत्र से नवाजा गया। इस प्रतियोगिता में कुल 65 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बिहार विधान परिषद के सदस्य घनश्याम ठाकुर ने कहा कि इस प्रकार की प्रतियोगिता का आयोजन समय-समय पर होते रहना चाहिए। मिथिला पेंटिंग की महत्ता दुनियाभर में है और इस तरह की लोककला गौरवशाली मैथिल संस्कृति का एहसास कराती है। एमएलसी ठाकुर ने कहा कि लोककलाओं को जीवंत बनाने के मकसद से किया गया नॉलेज फर्स्ट का यह प्रयास काबिले तारीफ है। केंद्र और राज्य सरकार भी लोककलाओं को प्रोत्साहित करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि और साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित डॉ. कमलकांत झा ने कहा कि ऐतिहासिक मिथिला की हर बात निराली है।

यहां विलक्षण प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है और इस तरह के कार्यक्रमों से उन प्रतिभाओं को सामने आने का मौका मिलेगा। बच्चों को ऐतिहासिक तथ्यों और परंपराओं का ज्ञान होना जरूरी है। कार्यक्रम के दूसरे विशिष्ट अतिथि नवनिर्वाचित मुखिया राजेश मिश्रा ने नॉलेज फर्स्ट को धन्यवाद देते हुए कहा कि वो अपने कार्यकाल के दौरान कला पर खास जोर देंगे। कलाकारों को इस तरह का प्लेटफार्म मुहैया कराएंगे और नॉलेज फर्स्ट के इस तरह की मुहिम को पूरा समर्थन देंगे। बता दें कि नॉलेज फर्स्ट एकेडमी की शुरुआत ग्रामीण क्षेत्र के छात्र-छात्राओं को स्थानीय इलाकों में ही गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मुहैया कराने के मकसद से की गई है।

नॉलेज फर्स्ट एकेडमी के डायरेक्टर सुजीत झा ने कहा कि उनका मकसद प्रतिभाओं के पलायन को रोकना है और वो इसके लिए महानगरों और नामी-गिरामी संस्थानों के शिक्षकों को इस प्लेटफ़ॉर्म पर लाने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि इस तरह के आयोजनों से हमारे गौरवपूर्ण धरोहरों का संरक्षण होता है। कार्यक्रम का मंच संचालन मनोज झा ने किया। वहीं, कार्यक्रम में राहुल झा, मनीष झा आदि ने भी भाग लिया।

खबरें और भी हैं...