एक नई पहल किया / 11 शहर के प्रवासी को (ए) कैटेगरी में रखकर सेंटर्स पर करेंगे क्वारेंटाइन, उसके बाद होम क्वारेंटाइन में रहेंगे

प्लस टू उच्च विद्यालय में निबंधन कराते प्रवासी। प्लस टू उच्च विद्यालय में निबंधन कराते प्रवासी।
X
प्लस टू उच्च विद्यालय में निबंधन कराते प्रवासी।प्लस टू उच्च विद्यालय में निबंधन कराते प्रवासी।

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

बेतिया. कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए प्रशासन ने अब एक नई पहल की है। इसके तहत चिन्हित 11 शहरों से आने वाले अथवा आ चुके सभी लोगों को ए कैटेगरी में रखकर उन्हें 14 दिनों तक प्रखंड स्तरीय क्वारेंटाइन सेंटर में रखा जाएगा। उसके बाद उन्हें 7 दिनों के लिए होम क्वारेंटाइन किया जाएगा। जबकि बी कैटेगरी में आने वालों को 21 दिनों तक होम क्वारेंटाइन में रखा जाएगा। यह जानकारी शुक्रवार को बीडीओ राघवेंद्र कुमार त्रिपाठी ने दी है। उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर प्रशासन ने दो अलग अलग कैटगरी बनाई है। जिसमें चिन्हित 11 शहर से आने वालों को ए व शेष अन्य शहर से आने वालों को बी कैटेगरी में बांटा गया है। बी कैटेगरी में शामिल लोगों का थर्मल स्क्रीनिंग कराने के बाद सामान्य रहने पर उन्हें 21 दिनों तक होम क्वारेंटाइन किया जाएगा। इस संबंध में सभी सेंटर के प्रभारियों को निर्देशित किया गया है। बीडीओ ने बताया कि ए कैटेगरी में दिल्ली, मुम्बई, कलकत्ता, सूरत, अहमदाबाद, पुणे, बैंगलोर, गुड़गांव, गाजियाबाद, फरीदाबाद व नोएडा शहर को शामिल किया गया है।  वहीं शेष अन्य शहरों को बी कैटेगरी में रखा गया है। वर्तमान में जितने भी प्रवासी सेंटरों पर क्वारेंटाइन किये गए हैं, उनमें 11 शहरों के लोगों को चिन्हित कर सेंटरों पर शिफ्ट किया जाएगा। इन 11 शहरों के अलावे जो हैं, उनका आधार नंबर, बैंक खाता व होम क्वारेंटाइन का फॉर्म भरवाकर जितने दिन सेंटर पर थे वो जोड़ते हुए 21 दिनों के लिए उन्हें होम क्वारेंटाइन किया जाएगा। 
ए कैटेगरी में आने वालों का होगा निबंधन | बीडीओ ने बताया कि 11 शहरों से आने वाले सभी लोगों का नगर के प्लस टू उच्च विद्यालय में निबंधन होगा। उन्हें नगर क्षेत्र में ही बनाए गए प्रखंडस्तरीय क्वारेंटाइन सेंटरों पर आवासित कर दिया। 
निबंधन स्थल पर होगी पूरी व्यवस्था | बीडीओ ने बताया कि निबंधन स्थल पर प्रवासियों के बैठने के लिए पंडाल बनाया जा रहा है। वहीं, शुद्ध पेयजल की व्यवस्था भी रहेगी। निबंधन की प्रक्रिया में देरी होने पर प्रशासन की तरफ से प्रवसियों को जलपान व भोजन भी कराया जाएगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना