पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

परेशानी:आंधी और वज्रपात से 15 इंसुलेटर पंक्चर, जगह-जगह तार भी टूटे

बेतियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में बिजली आपूर्ति हुई प्रभावित, फाॅल्ट काे ठीक करने में जुटे कर्मी

जिले में शुक्रवार की सुबह आया तेज आंधी के साथ बारिश व वज्रपात बिजली विभाग पर एक बार फिर से भारी गुजरा। एक साथ आंधी-पानी व वज्रपात के होने से बिजली विभाग के लिए त्राहिमाम की स्थिति पैदा हो गई। तेज आंधी व वज्रपात की वजह से बिजली विभाग के कई उपकरण पूरी तरह खराब हो गए। वहीं पेड़ के गिरने व पेड़ों की शाखाओं पर बिजली के तार पर गिरने से जिले में जगह-जगह बिजली आपूर्ति चरमरा गई। विभागीय अधिकारी व कर्मी सुबह से ही क्षतिपूर्ति के आंकलन में जुटे रहे।

इधर शहर के कई इलाकों में तो दोपहर 12 बजे तक बिजली की आंख मिचौली जारी रही। एसडीओ सुशील कुमार ने बताया कि शुक्रवार की सुबह तेज आंधी के कारण कई जगहों पर छोटे मोटे फॉल्ट आ गए थे। जिसे ठीक कर दिया गया है। शहर के लाल बाजार फीडर के कई इलाकों में दोपहर 12 बजे के बाद तक बिजली गुल थी। टाउन वन जेई राजीव कुमार सिंह ने बताया कि सप्लाई दी जा रही थी। लेकिन दस से 15 मिनट के बाद वह होल्ड ही नहीं कर रहा था। इसकी वजह से फॉल्ट ढूंढने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। उन्होंने बताया कि तेज आंधी में पेड़ों के नीचे झुक जाने से तार के फॉल्ट को ढूंढने में अधिक कठिनाई हुई।

चनपटिया में 15 इंसुलेटर हुए पंक्चर
जिले के चनपटिया क्षेत्र में भी आंधी व वज्रपात से बिजली महकमे को काफी नुकसान हुआ है। चनपटिया बिजली एसडीओ अंकित कुमार ने बताया कि चनपटिया, योगापट्टी व कुमारबाग क्षेत्र में कई जगहों पर पीन इंसुलेटर ब्लास्ट हो गए। उन्होंने बताया कि कुमारबाग में 4, योगापट्टी में 6 तथा बैरिया में पांच इंसुलेटर पंक्चर हुए हैं। उन्हाेंने बताया कि कुछ जगहों पर बिजली के पोल पर पेड़ों के गिर जाने से भी क्षति हुई है। सभी प्रभावित इलाकों में मरम्मत चल रहा है। जल्द ही सभी जगहों पर बिजली आपूर्ति बहाल कर दी जाएगी। उधर मझौलिया में कृषि फीडर के ट्रांसफार्मर का स्ट्रक्चर आंधी में गिर गया। मझौलिया जेई प्रदीप कुमार ने बताया कि 11 केवी का लाइन सुबह में होल्ड नहीं कर रहा था। लेकिन बाद में फॉल्ट ठीक होने के बाद सभी इलाकों में बिजली आपूर्ति बहाल कर दी गई है।

खबरें और भी हैं...