पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दो दिवसीय वेबिनार आयोजित:धरती पर हरियाली के साथ जल का संवर्धन व संरक्षण भी जरूरी : डॉ. रविंद्र

बेतिया18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • डिग्री कॉलेज की ओर से जल-जीवन-हरियाली पर दो दिवसीय वेबिनार आयोजित

गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज बगहा की ओर से जल-जीवन-हरियाली विषयक दो दिवसीय वेबिनार आयोजित की गई। इसमें राज्य के अलावे दूसरे प्रदेशों के पर्यावरण व शिक्षाविदों ने अपने विचारों को रखा और कई उपाय भी सुझाए।

वेबिनार में बोलते हुए डिग्री कॉलेज के प्राचार्य डॉ. रविंद्र कुमार चौधरी ने कहा कि धरती पर जीवों की सुरक्षा पर्यावरण संरक्षण से ही संभव है। लेकिन धरती की हरियाली व पर्यावरण संरक्षण के लिए जल के संरक्षण व संवर्धन के साथ जल की सुरक्षा भी अनिवार्य है। उन्होंने कहा कि एक अनुमान के मुताबिक प्रतिदिन केवल मेहमान नवाजी में जो जल हम खर्च करते हैं। उससे प्रतिवर्ष 63 लाख करोड़ लीटर जल की बर्बादी होती है। ऐसे में हमें जीवन बचाने के लिए जल-जीवन-हरियाली की थीम पर मुस्तैदी से काम करने की जरूरत है।

सीएसआईआर एनबीआरआई लखनऊ के प्लांट इकोलॉजी एंड क्लाइमेट चेंज डिवीजन की सीनियर साइंटिस्ट डॉ रिचा राय ने एयर पॉल्यूशन एंड इट्स इंपैक्ट ऑन क्लाइमेट चेंज विषय पर चर्चा की। वहीं एलएस कॉलेज मुजफ्फरपुर जंतु विज्ञान विभाग की डॉ अनिता कुमारी ने वाटर रिसोर्स मैनेजमेंट एंड क्लाइमेट चेंज पर अपनी बातों को रखा।

खबरें और भी हैं...