तूल पकड़ा:इनरवा में ईदगाह ध्वस्त मामले को ले लोगों में आक्रोश विधायक ने दोषी पदाधिकारी पर कार्रवाई की मांग की

मैनाटांड़5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ध्वस्त ईदगाह के पास लोगों से बातचीत करते विधायक वीरेंद्र गुप्ता। - Dainik Bhaskar
ध्वस्त ईदगाह के पास लोगों से बातचीत करते विधायक वीरेंद्र गुप्ता।
  • इंडो-नेपाल बॉर्डर सड़क परियोजना के तहत इनरवा बाजार में अतिक्रमण हटाने के दाैरान ईदगाह टूटा था

इंडो-नेपाल बॉर्डर सड़क परियोजना के तहत सीमावर्ती इनरवा बाजार में अतिक्रमण मुक्त करने की कार्रवाई के दौरान ईदगाह को पूरी तरह से ध्वस्त करने का मामला अब तूल पकड़ने लगा है। शुक्रवार को विधायक वीरेंद्र गुप्ता ने गुप्ता ने इनरवा बाजार स्थित ध्वस्त ईदगाह के पास पहुंचकर मामले की जांच पड़ताल की। जांच पड़ताल के उपरान्त विधायक ने बताया कि इनरवा में सड़क निर्माण के मापी के दौरान 0.07 डिसमिल जमीन सड़क के लिए चाहिए था। जिसको लेकर विभाग द्वारा नोटिस किया गया था।

लेकिन अतिक्रमण ध्वस्त करने के दौरान 15 डिसमिल जमीन लिया गया और पुरी इदगाह को साजिश के तौर ध्वस्त कर दिया गया।जबकि ईदगाह के नाम पर नूर मोहम्मद मियां के नाम से दो कट्ठा जमीन दस्तावेजी है। जहां सड़क को 100 फीट चाहिए वहां 124 फीट दिखाकर पूरी तरह से ईदगाह को ध्वस्त कर दिया गया। जबकि अतिक्रमण मुक्त करने की कार्रवाई के पहले दिन ईदगाह में जमीन को विभाग के आदेश के अनुसार चिन्हित किया गया था। जिसमें पूरी तरह से तोड़ने की बात नहीं कही गई थी।

फिर भी दूसरे दिन भूमाफियाओं के इशारे पर व पैसे के बल पर पूरी ईदगाह को ही ध्वस्त कर लोगों की भावना के साथ खिलवाड़ किया गया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अतिक्रमण बचाने के नाम पर दुकानदारों से अधिकारियों द्वारा पैसा वसूली का खेल खेला गया था। विधायक ने बताया कि अतिक्रमण मुक्त करने के दौरान नेयाज आलम, अख्तर मियां,तौफील अहमद, नसीम अहमद,बेचू मियां , रिजवान आलम बेघर हो गये हैं ।वहीं अब खम्हियां गांव में भी जब अतिक्रमण मुक्ति की करवाई होगी उसके दौरान राजेंद्र राउत, नरेंद्र राउत और महेंद्र राउत भी बेघर हो जायेंगे।

ऐसे में प्रशासन बेघर हुए लोगों के लिए आवासीय भूमि उपलब्ध करवाए। बेघर हुए लोगों के बाल बच्चे खुले आसमान के नीचे या रिश्तेदारों के यहां रहने को विवश हैं। माले पार्टी कार्यालय भी पूरी तरह से ध्वस्त कर दिया गया है। विधायक ने कहा कि ईदगाह को पूरी तरह से ध्वस्त करने के मामले में संबंधित पदाधिकारी जो दोषी हैं, राज्य सरकार वैसे पदाधिकारियों को निलंबित करते हुए कार्रवाई करें। मौके पर माले के अंचल सचिव अच्छेलाल राम, विधायक प्रतिनिधि इंद्रदेव कुशवाहा, जिला सदस्य सीताराम राम, उप प्रमुख खुर्शीद आलम, शेख राजा,गैसुल आजम, शेख नेसार सहित काफी संख्या में लोग मौजूद रहें।

खबरें और भी हैं...