पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

निगेटिव दौर की पॉजिटिव स्टोरी:कोरोना पॅजिटिव होने पर पैनिक नहीं हुए, योग-ध्यान, गर्म पानी और काढ़ा से कोरोना को कह दिया बाय-बाय

बेतिया9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बगहा के प्रोफेसर ने योग-साधना से कोरोना को हराया। - Dainik Bhaskar
बगहा के प्रोफेसर ने योग-साधना से कोरोना को हराया।

कोरोना खतरनाक है, लेकिन इंसान की इच्छाशक्ति के आगे घुटनों के बल आ सकता है। इसे लोग साबित कर के दिखा भी रहे हैं। आज हम बात कर रहे हैं बगहा महिला महाविद्यालय के इतिहास के विभागाध्यक्ष प्रो. अरविंद की। मुरादाबाद से लौटने के बाद वे संक्रमित हो गए, लेकिन जरा भी पैनिक नहीं हुए। खुद को आइसोलेट किया। बिना दवा के योग ध्यान ठीक हो गए। उन्होंने काढ़ा, तुलसी और गर्म पानी से कोरोना को बाय-बाया कह दिया।

प्रो. अरविंद ने बताया कि वे 20 मार्च को एक कार्यक्रम में मुरादाबाद गए थे। 22 व 23 को कार्यक्रम एंटेंड करने के बाद हरिद्धार चले गए। वहां से फिर वे मुरादाबाद आकर सत्याग्रह एक्सप्रेस से 25 मार्च को बगहा रेलवे स्टेशन पर उतरे, जहां उनकी कोविड जांच हुई। वे पॉजिटिव आ गए। इसके बाद वे घर आकर सेल्फ क्वारेंटाइन हो गए। अस्पताल से फोन आया, एहतियात बरतने की हिदायत दी गई। प्रो. अरविंद ने बताया कि वे निरंतर गायत्री मंत्र का जाप व साधना करते रहे। एक रात उन्हें गले में काटा चुभने जैसा महसूस हुआ। वे जग गए और उसी वक्त साधना में लीन हो गए। ऐसा लगा कि छाती भारी हो गया और बिना फीवर पूरा शरीर तपने लगा। साधना करते-करते उन्हें बेहतर फील होने लगा। 14 दिन योग-साधना और संयमित खानपान के बाद अप्रैल के प्रथम सप्ताह में जांच कराई तो रिपोर्ट निगेटिव आई। वे अब बिल्कुल स्वस्थ्य हैं।

अब करना चाहते हैं प्लाजमा डोनेट
प्रो. अरविंद अब दूसरे की जिंदगी बचाने के लिए प्लाज्मा डोनेट करना चाहते हैं। उनका कहना है कि उनके प्लाज्मा देने से अगर किसी की जिंदगी बचती है तो यह उनके जीवन की सार्थकता होगी। उन्होंने बताया कि आम तौर पर लोग इस बीमारी को छिपा रहे हैं, जो सरासर गलत है। मन में आत्मबल, ईश्वर पर विश्वास है तो लोग स्वत: योग साधना और संयम के बदौलत ठीक होते रहेंगे। इसमें कोई संदेह नहीं है। अंदर से मजबूत रहना है और आत्मबल को जगाए रखना है। अरविंद कहते हैं कि एक दिन कुमार विश्वास का पोस्ट पढ़ रहा था। उनकी टीम दूसरों की जिंदगी बचाने के लिए लोगों को प्रेरित कर रही है। उससे मुझे काफी बल मिला और मैने निर्णय लिया कि मैं भी अपना प्लाजमा लोगों को डोनेट करूंगा।

85 साल के बुजुर्ग ने कोरोना को हराया

अरेराज में, कोरोना को मात देकर निकले 85 वर्षीय वृद्ध को प्रमाणपत्र देते चिकित्सक।
अरेराज में, कोरोना को मात देकर निकले 85 वर्षीय वृद्ध को प्रमाणपत्र देते चिकित्सक।

(बेतिया से कृष्णकांत मिश्र के इनपुट के साथ)

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

और पढ़ें