बेतिया में बाढ़ का कहर जारी है:सिकरहना नदी के जलस्तर के बढ़ने से योगापट्टी के कई गांव डूबे; राशन भी पानी-पानी, पलायन करने को मजबूर हैं लोग

बेतिया4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बेतिया में लगातार हो रही बारिश के कारण जल जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। बारिश के कारण जिले में हर तरफ पानी-पानी हो गया है। वहीं, योगापट्टी प्रखंड के कई गांव में बाढ़ आ चुका है, जिससे लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। 6 दिनों से लगातार हो रही बारिश से सिकरहना नदी का जलस्तर बढ़ गया है।

बेतिया के योगापट्टी प्रखंड के जरलपुर खुटवनिया पंचायत के कई गांव में बाढ़ के पानी घुस चुका हैं। लगातार 6 दिनों से हो रही बारिश के साथ गंडक नदी उफान पर है, जिसके कारण योगापट्टी प्रखंड के दियारावती क्षेत्र के गांवों में बाढ़ का पानी घुस आया है। इस कारण प्रखंड मुख्यालय का संपर्क टूट चुका है। तेज बारिश से आधा दर्जन गांव बाढ़ की चपेट में आ चुके हैं।

गंडक नदी के जल स्तर से वृद्धि होने के कारण पंचायत के आधा दर्जन से गांव खुटवनिया जरलपुर पंचायत के जरलपुर साहि बजार, डिही, गजना, सिसवा, मंगलपुर चौमुखा, मंगलपुर दर्जनों गांवों में पानी आ गया है। सभी घरों में दो से तीन फीट तक पानी घुसा हुआ है। पीड़ित परिवार के लोग ऊंचे स्थान पर शरण लेने को मजबूर हैं।

वहीं, बाढ़ पीड़ितों का कहना है कि खाने के लिए घर में राशन नहीं है। बाढ़ के पानी ने सब कुछ तबाह कर दिया है। घर में जो अनाज रखे हुए थे वह भी पानी में बह गया। ऐसे में भुखमरी की स्थिति हमारे सामने आ गई है। अभी मानसून की पहली बारिश है। ऐसे में बाढ़ की भी विभीषिका ने पहली बारिश में ही सब कुछ तबाह कर दिया है। अभी पूरा मानसून बाकी है। ऐसे में जिला प्रशासन से गुहार है कि वह हमारी मदद करें।

खबरें और भी हैं...