बेतिया में संदिग्ध अवस्था में आशा कार्यकर्ता की मौत:पति समेत ससुराल वाले फरार, मायके वाले जता रहे हत्या की आशंका

बेतिया10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इनरवा थाना, बेतिया। - Dainik Bhaskar
इनरवा थाना, बेतिया।

बेतिया के इनरवा थाना क्षेत्र के बरवा गांव में सोमवार शाम आशा कार्यकर्ता की संदिग्ध स्थिति में मौत हो गई। मृत महिला की पहचान बरवा परसौनी के दिलीप राम की पत्नी रागिनी देवी के रूप में हुई है। रागिनी आशा कार्यकर्ता के रूप में काम करती थी। घटना की जानकारी मिलते ही मृतका के मायके वाले लड़की के ससुराल पहुंच गए। रागिनी का मायके शिकारपुर थाना के पटखौली में है।

जैसे ही मायके वालों की पहुंचने की सूचना रागिनी के पति और उनके परिवार वालों को लगी। सभी घर छोड़कर फरार हो गए। मृतका के ससुराल वालों को इस इस तरह घर छोड़कर भागना संदेह के घेरे में खड़ा करता है। मृतका के मायके वालों का आरोप है कि रागिनी देवी की हत्या की गई है और आनन फानन में शव को जला दिया गया है।

उधर चर्चा है कि अधजले शव को कहीं छुपा दिया गया है। इनरवा थानाध्यक्ष प्रकाश कुमार ने भी बरवा पहुंचकर मामले की छानबीन की है। उन्होंने बताया कि मृतका के परिजन बरवा आए हुए हैं। उनके द्वारा दी गई सूचना के आलोक में जांच पड़ताल की जा रही है। शव की बरामदगी अभी नहीं हो पाई है। परिजनों के द्वारा लिखित शिकायत देने पर प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई की जायेगी। तब तक संदेह के आधार पर पुलिस साक्ष्य जुटाने में लगी हुई है।

खबरें और भी हैं...