14 साल से झोपड़ी में चल रहा स्कूल:बेतिया के इस स्कूल में बाइक की डिक्की में चलता है कार्यालय, दो शिक्षक के हवाले 63 बच्चों का भविष्य

बेतिया2 महीने पहले

बेतिया के चनपटिया प्रखंड के बनवाटोला नुनियार गांव में स्थित राजकीय प्राथमिक स्कूल एक झोपड़ी में चलता है। ये स्कूल जिला शिक्षा पदाधिकारी के ऑफिस से महज 15 किलोमीटर की दूरी पर है। इस स्कूल में पहली से पांचवी क्लास तक पढ़ाई होती है। विद्यालय में कुल 63 बच्चे हैं। इन बच्चों को पढ़ाने का जिम्मा सिर्फ दो शिक्षकों पर है। स्कूल में ना ही शौचालय है ना हीं रसोई घर।

2007 से 20 फिट की झोपड़ी में चल रहा स्कूल

इस स्कूल की स्थापना 2007 में हुई थी। तब से आज तक इस स्कूल का कोई विकास नहीं हो पाया है। शिक्षक की बाइक की डिक्की में स्कूल का कार्यालय चलता है। सभी कागज और रजिस्टर को शिक्षक अपने बाइक की डिक्की में लेकर घर चले जाते हैं। स्कूल में रसोईघर नहीं होने के कारण बच्चों को खाना-खिलाने वाले बर्तन भी रसोईया उर्मिला देवी और सुगंधी देवी अपने घर ले जाती हैं।

वहीं, इस संबंध में स्कूल की प्रिंसिपल ने बताया कि- "जमीन का रजिस्ट्रेशन नहीं होने के कारण स्कूल अभी तक भवनहीन है। उन्होंने DM से लेकर CO तक, सबसे स्कूल व्यवस्था ठीक करने की मांग की। लेकिन उनके तरफ से हर बार बातों को टाल दिया गया। ऐसे में हमें मजबूर होकर इस तरह बच्चों को पढ़ाना पड़ रहा है। ये झोपड़ी भी हमने ही बनवाई है। हमारी प्रशासन से मांग है कि बच्चों की खातिर इस स्कूल के भवन का निर्माण करवा दिया जाए।"

खबरें और भी हैं...