आक्रोश:मंझरिया के एक नंबर वार्ड का बूथ किया गया 3 नंबर वार्ड में, नाराज ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

पिपरासी17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बूथ को लेकर कतकी सामुदायिक केंद्र पर प्रदर्शन करते ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
बूथ को लेकर कतकी सामुदायिक केंद्र पर प्रदर्शन करते ग्रामीण।
  • मंझरिया पंचायत में है 12 वार्ड, बूथों की संख्या है 11, पंचायत के वार्ड नंबर- 1 कतकी गांव में बूथ नहीं बनाया गया है

पिपरासी प्रखंड की मंझरिया पंचायत के वार्ड नंबर एक स्थित कतकी गांव का बूथ वार्ड नंबर तीन तिनमोहानी गांव में कर दिया गया है। इसकी जानकारी मिलने पर लोग आक्रोशित हो चले हैं। नाराज ग्रामीणों ने कतकी चौक स्थित सामुदायिक भवन के सामने प्रदर्शन किया तथा गांव के ही किसी सरकारी भवन में ही बूथ की व्यवस्था की मांग की। ग्रामीणों ने बताया कि पंचायत चुनाव के लिए प्रत्येक वार्ड में बूथ बनाया जाता है। मंझरिया पंचायत में कुल 12 वार्ड हैं। इस पंचायत में बूथों की संख्या 11 है। पंचायत में एकमात्र वार्ड नंबर एक कतकी गांव में ही बूथ नहीं बनाया गया है। जबकि इस गांव में दो सामुदायिक भवन हैं, जिनमें बूथ बनाया जा सकता है। प्रखंड में कई स्थानों पर आंगनबाड़ी केंद्र, फूस के घर समेत चलंत मतदान केंद्र भी बनाया गया है। इस गांव के साथ सौतेला व्यवहार किए जाने पर नाराजगी जताते हुए ग्रामीणों ने गांव में ही बूथ स्थापित करने की मांग की।
बूथ दूर होने से कम हो जाएगा मतदान प्रतिशत | गोरख कुशवाहा, प्रमोद मद्देशिया, सुरेंद्र साह, बलिराम कुशवाहा, सुभाष चौरसिया, रामक्यास चौधरी, दिनेश कुशवाहा, उमेश साह, राजेश चौहान आदि ग्रामीणों ने बताया कि बूथ की दूरी अधिक होने के कारण कतकी गांव की महिला मतदाताओं को मतदान के लिए आने जाने जाने में काफी दिक्कत होगी। इस कारण मतदान के प्रतिशत कम हो जाने की आशंका प्रबल है। ग्रामीणों ने बताया कि प्रशासन को चाहिए कि अन्य वार्डों की भांति इस वार्ड में भी बूथ की स्थापना की जाए। बीडीओ कुमुद कुमार ने बताया कि उनके पदस्थापना से पूर्व ही सभी बूथ लिस्ट जिला को चला गया था। ऐसा कैसे हुआ है, इसकी जानकारी जुटाई जाएगी।

स्क्रूटनी में पहुंचे नल-जल योजना में गड़बड़ी के आरोपी, दो वार्ड सचिवों को किया गिरफ्तार

बगहा/हरनाटांड़ बगहा- 2 प्रखंड की बेलहवा मदनपुर पंचायत के दो वार्ड सचिवों को गुरुवार को प्रखंड कार्यालय में हो रही स्क्रूटनी के दौरान पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इस पंचायत में नल जल योजना के तहत आवंटित राशि की वित्तीय हेराफेरी व अनियमितता मामले में पहले से दर्ज एफआईआर के तहत पुलिस को इनकी तलाश थी। बेलहवा मदनपुर पंचायत के निवर्तमान मुखिया योगेंद्र मुसहर भी बुधवार को इसी मामले में नामांकन काउंटर से गिरफ्तार कर जेल भेज दिए गए थे। डीएम के स्तर से कराई गई जांच के बाद इस मामले में तत्कालीन बीडीओ प्रणव कुमार गिरी ने मुखिया, वार्ड सचिवों, वार्ड सदस्यों व पीएस आदि के खिलाफ नौरंगिया थाना में एफआईआर दर्ज कराई थी। गिरफ्तार वार्ड सचिवों में योगेंद्र पंडित व पारस चौधरी शामिल हैं। ये दोनों वार्ड नंबर 11 व 6 की वार्ड क्रियान्वयन समितियों की जवाबदेही संभालते थे। योगेंद्र पंडित पूर्व में प्रखंड उप प्रमुख भी रह चुका है। नौरंगिया थानाध्यक्ष विनय कुमार मिश्रा ने बताया कि नल जल योजना में गबन के ये आरोपी लगातार फरार चल रहे थे। पुलिस टीम इनकी तलाश में जुटी थी।

7वें चरण के पंचायत चुनाव को ले हुई बैठक

सातवें चरण के पंचायत चुनाव को लेकर प्रखंड मुख्यालय स्थित बीडीओ कार्यालय में शांतिपूर्ण चुनाव के लिए थानाध्यक्ष, एसएसबी, सीएचसी प्रभारी व सभी एसएसटी की सयुंक्त तैयारी बैठक बीडीओ की अध्यक्षता में की गई। सभी थानाध्यक्ष ने नाम निर्देशन प्राप्ति के अवसर पर जिला से अतिरिक्त पुलिस बल मांगने हेतु सुझाव दिया तथा अधिकारियों को बताया कि जिला पुलिस कार्यालय से अतिरिक्त पुलिस बल की मांग की जाए। बीडीओ मीरा शर्मा ने प्रखंड मुख्यालय में नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने हेतु काउंटर पर बैरिकेडिंग एंव पुलिस बल की व्यवस्था करने की तैयारी के मद्देनजर विभिन्न बिंदुओं पर विस्तृत चर्चा की।

उपस्थित थानाध्यक्षों ने संशोधित संवेदनशील,अतिसंवेदनशील और वलनरेबुल मतदान केन्द्रों की पहचान करने तथा सभी आरोपितों पर धारा 107 की कार्रवाई करने से संबंधित प्रतिवेदन दिया। साथ ही अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे मतदान केंद्र तथा अंतर जिला सीमा से सटे संबंधित मतदान केंद्रों को चिह्नित कर बताया गया। जिसमें सिकटा थाना क्षेत्र के मतदान केंद्र संख्या 99,100,103,105,106 व 113,114। बलथर थाना क्षेत्र- 87,कंगली थाना क्षेत्र-125,131,143,152,153,154 व 155 तथा गोपालपुर थाना क्षेत्र-224 व 225 मतदान केंद्र जो गोपालपुर थाना से सुदूर एंव मझौलिया प्रखंड के बाॅर्डर पर है।

खबरें और भी हैं...