निधन:बाल वैज्ञानिकों के मार्गदर्शक प्रमोद पाल का निधन, शाेक

बेतिया6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एक बेटी की कल अाैर दूसरी की 23 मई हाे हाेनी थी शादी

साइंस फॉर सोसायटी के जिला सह क्षेत्रीय समन्वयक व अधिवक्ता प्रमोद पाल सिन्हा नहीं रहे। बुधवार की रात उनका निधन हो गया। वे कुछ दिन पूर्व ही कोरोना संक्रमित हो गए थे। जिसके बाद उनका इलाज चल रहा था। लेकिन अंततः वे दुनिया को अलविदा कह गए। उनके निधन की खबर मिलते ही जिले में शिक्षा जगत से लेकर न्यायपालिका तक में शोक की लहर दौड़ गई। वहीं, प्रमोद पाल सिन्हा के यूं अचानक चले जाने से बेटियों के हाथ पीले करने का सपना अधूरा ही रह गया। उन्होंने दो बेटियों की शादी तय कर रखी थी। एक शादी तो 30 अप्रैल को ही होनी थी, जबकि दूसरी 23 मई को होने वाली थी। घर में हंसी खुशी का माहौल था शादी की तैयारियां चल ही रही थी कि प्रकृति ने सबसे बड़ा क्रूर मजाक कर दिया। सिन्हा जी को तीन पुत्रियां तथा एक पुत्र है। जिसमें दो बेटियों की शादी वे करने जा रहे थे। लेकिन नियति को शायद कुछ और ही मंजूर था। शादी की खुशियां देखते ही देखते मातम में बदल गई।

खबरें और भी हैं...