कोरोना अपडेट / 68 दिनों के बाद अनलॉक हुआ शहर, कोरोना के भय के बावजूद सामान्य जिंदगी जीने का प्रयास शुरू

City Unlocked After 68 Days, Efforts To Live Normal Life Despite Corona Fear
X
City Unlocked After 68 Days, Efforts To Live Normal Life Despite Corona Fear

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 05:00 AM IST

बेतिया. वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने को लेकर 68 दिनों तक लागू लॉकडाउन के बाद सोमवार को शहर ऑनलॉक हो गया है। ऑनलॉक होने के बाद जिले में पटरी पर जिंदगी लौटने लगी। कोरोना वायरस के संक्रमण के भय के बावजूद सामान्य जिंदगी जीने का प्रयास लोगों ने शुरू कर दी। ऑनलॉक के पहले दिन जिला मुख्यालय से लेकर ग्रामीण इलाकों में लोग सड़कों पर दिखाई देने लगे। वहीं, बस व टैक्सी स्टैंडों में रौनक लौटने लगा है।

न्यू बस स्टैंड हरिवाटिका में विभिन्न जगहों के लिए गाड़ियां पकड़ने को लेकर यात्री पहुंचे। बसों व टैक्सियों में सीटों पर दो-दो यात्रियों को बैठाया गया। वही बाजार में सभी तरह की दुकानें खुल गई हैं। ज्वैलरी दुकान, कपड़ा दुकान, श्रृंगार, बर्तन आदि दुकानें खुलने से व्यवसायियों ने राहत महसूस किया है। वही होटल भी खुल गए हैं। जिससे होटल संचालकों के अलावे आमलोगों को भी काफी राहत मिली है।

ऑनलॉक के पहले दिन ही टूटा सुरक्षा चक्र, हर तरफ साेशल डिस्टेसिंग की उड़ती रही धज्जियां
ऑनलॉक के पहले दिन ही कोरोना को लेकर सुरक्षा चक्र टूट गया। मुख्य सड़क, बाजार व दुकानों पर प्रशनल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ती रही। शहर के छावनी में वाहनों की जाम में लोग फंसे रहे। वही इलेक्ट्रोनिक दुकानों पर खरीदारी करने आए लोग प्रशनल डिस्टेसिंग भूल गए थे। प्रशनल डिस्टेसिंग के लिए दुकानों की ओर से किसी तरह की व्यवस्था नहीं की गई थी। ऐसे में ऑनलॉक के बाद एकाएक लोगों के बाहर आने से कोरोना वायरस के संक्रमण फैलने की संभावनाएं बढ़ गई है।
सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना अनिवार्य, यत्र-तत्र गुटखा व पान खाकर थूकना दंडनीय अपराध

मालवाहक वाहनों के परिचालन पर किसी भी तरह का प्रतिबंध नहीं रहेगा। अर्थात एक राज्य से दूसरे राज्यों में जाने के लिए मालवाहक वाहनों के लिए कोई पास लेने की आवश्यकता नहीं होगी। इसके अलावे पूर्व की भांति बडे़े सामूहिक वाहनों के आयोजनों पर रोक रहेगी तथा शादियों में अधिकतम 50 व्यक्ति एवं अंतिम संस्कार में 20 व्यक्ति शामिल हो सकते हैं। वही सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना अनिवार्य है तथा पूर्व की भांति सार्वजनिक स्थानों पर गुटखा एवं पान खाकर थूकना दंडनीय अपराध है। इसका अनुपालन कराने का सख्त निर्देश डीएम की ओर से दी गई है।

बस स्टैंड में हुई माइकिंग, नहीं दिखी स्टैटिक टीम
न्यू बस स्टैंड हरिवाटिका में दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी की स्टैटिक टीम रही नादारद रही। हालांकि कोरम पूरा के लिए मौके पर एसडीएम विद्यानाथ पासवान, एसडीपीओ मुकुल परिमल पांडेय, सदर सीओ, बीडीओ व नगर थानाध्यक्ष स्टैंड पहुंचे। जहां माईकिंग की गई। माइकिंग के माध्यम से प्रशनल डिस्टेंसिंग मेंटन करने, मास्क, फेस कवर का उपयोग एवं समय-समय पर साबुन अथवा सैनेटाइजर से हाथ धोने संबंधी सूचनाओं को लगातार प्रचारित-प्रसारित करना है।

साथ ही 65 साल के बुजुर्गों, 10 साल से कम के बच्चे एवं गंभीर बीमारियों से ग्रसित व्यक्ति बहुत जरूरी कार्य नहीं हो तो घर से बाहर नहीं निकले। जबकि डीएम कुंदन कुमार ने बस स्टैंड में दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी की स्टैटिक टीम की प्रतिनियुक्ति करने का निर्देश दिया है। टीम को जिम्मेवारी सौंपी गई है कि वे परिवहन से संबंधित निर्देशों का सख्ती से पालन कराएंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना