पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Muzaffarpur
  • Do Yoga, Take Care Of Food And Take Precautions; Medicines Are Not Magic Bullets, Keep Thinking Positive Only Then You Will Be Negative

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सतर्कता जरूरी:योग करें, खानपान का ध्यान रखें और एहतियात बरतें; मैजिक बुलेट नहीं है दवाएं, सोच पॉजिटिव रखें तभी आप निगेटिव होंगे

बेतिया12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • एम्स दिल्ली के प्रशिक्षु चिकित्सक डॉ. संजीव शुक्ल ने कोरोना को हराने के लिए दी सलाह

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सबसे जरूरी है कि हम अपने घर के माहौल को पूरी तरफ से पॉजिटिव बनाए रखें तभी हम करोना निगेटिव हो पाएंगे। घर का हर सदस्य एक दूसरे की हौसला अफजाई करें तथा हमेशा आपस में पॉजिटिव बात ही करें। घर के सभी लोग योग करें एवं खानपान का विशेष ध्यान रखते हुए पूरी एहतियात बरतें। दवाई मैजिक बुलेट नहीं है लेकिन पूरी पॉजिटिविटी के साथ एहतियात बरतते हुए सावधानी का पालन करते हुए हम इस बीमारी से निजात पा सकते हैं।

सावधानी रखें घर में रहे और सुरक्षित रहे। याद रहे पॉजिटिविटी इन दिनों सबसे बड़ा हथियार है जिससे हम कोरोना का वध कर सकते हैं। यह कहना है नई दिल्ली एम्स के प्रशिक्षु डॉक्टर और मझौलिया के हरपुर निवासी डॉक्टर संजीव का। इन्होंने 2016 में देश स्तर पर 14वां स्थान प्राप्त कर एम्स का एंट्रेंस एग्जाम पास किया था । इन दिनों वे अपने पैतृक निवास स्थल आए हुए हैं और टेलीकंसल्टेशन मोबाइल नंबर 95346 06845 के जरिए राज्य के अलग-अलग जिलों के लगभग डेढ़ सौ मरीजों को कोविड-19 के संक्रमण से बचाव करने के तरीके अथवा रोगियों के उपचार के लिए कारगर दवाओं की जानकारी दे चुके हैं।

सावधानी और एहतियात सबसे बड़ी दवा

बातचीत में डॉ. संजीव ने बताया कि आज कल तरह-तरह की दवाओं का प्रचार प्रसार किया जा रहा है लेकिन याद रखें की कोई भी दवा मैजिक बुलेट नहीं है। जिसके इस्तेमाल करते ही कोई चंगा हो जाए लेकिन अगर हम पूरी सावधानी और एहतियात रखते हुए सतर्क रहेंगे, तो बड़ी आसानी से इस बीमारी को मात दे सकते है।

सीओपीडी केस बनने से बचें
उन्होंने बताया कि अगर आपका ऑक्सीजन लेवल 92 से 96% है तब आप पूरी तरह से सुरक्षित है और अगर यह लेबल 88 से 92% है तब इसे सीओपीडी केस माना जाता है जिसमें दमा अस्थमा के मरीजों के लिए हाई रिस्क होता है। इसके अलावा हृदय रोगी डायबिटीज के मरीज ,किडनी और फेफड़ों के क्रॉनिक मरीज के अलावा थुलथुलापन के शिकार तथा अन्य घातक बीमारी मसलन कैंसर आदि के रोगियों के लिए यह माहौल पूरी तरह से एहतियात बरतने का है। आप जरा भी चिंतित ना होए नियमित व्यायाम योगाभ्यास और पॉजिटिव सोच से आप पूरी तरह सुरक्षित रह सकते हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

    और पढ़ें