पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

इबादत:लाेगाें ने घर पर ही पढ़ी ईद-उल-अजहा की नमाज शांति और तरक्की के लिए अल्लाह से मांगी दुआएं

मैनाटांड़13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • लाेगाें ने एक-दूसरे काे दी बधाई, भाईचारे के साथ मनाया गया त्याेहार, लॉकडाउन के दिशा-निर्देषों का किया पालन

शनिवार को प्रखंड क्षेत्र में ईद उल अजहा (बकरीद) का त्योहार धूमधाम से मनाया गया। प्रखंड मुख्यालय, बसंतपुर, बास्ठा, भेड़िहारी, पुरैनिया, इनरवा आदि जगहों पर तीन दिवसीय पर्व बकरीद को लेकर बेहद उल्लास था। लेकिन कोरोना वायरस के महामारी के संक्रमण से बचने के लिए ईदगाह में नमाज अदा नहीं की गई। अपने अपने घरों में परिवारजनों के साथ बकरीद की नमाज अदा की गई। वही मैनाटांड़ में अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद ने अपने निवास स्थान पर ईद उल अजहा की नमाज अदा किया। नमाज अदा करने के बाद उन्होंने कहा कि अल्लाह के बन्दों के द्वारा की गई की इबादतों से उनके घर परिवार के साथ-साथ प्रदेश और देश में शांति और समृद्धि आयें।

उन्होंने कहा कि मेरी कामना है कि समाज में अमन-चैन, भाईचारा पूरे तौर पर कायम रहे। खुदा इस मुबारक दिन पर अपने नेक बंदों को ईनाम से नवाजते हैं। मंत्री अहमद ने नमाज के दौरान यह भी दुआ मांगी कि कोरोना वायरस से देश को लड़ने की शक्ति भी ऊपर वाला दें। वही शांति व्यवस्था के लिए बीडीओ राजकिशोर प्रसाद शर्मा, मैनाटाड़ थानाध्यक्ष अशोक कुमार, मानपुर के विक्रांत सिंह, इनरवा के अजय कुमार सिंह, पुरूषोत्तमपुर के कैलाश कुमार, भंगहा के रमेश कुमार साह सदल-बल गश्त लगाते रहे।

कानून व्यवस्था के संधारण के लिए गश्त लगाती रही पुलिस, प्रशासनिक अधिकारी भी क्षेत्र का लेते रहे जायजा

ईद-उल-अजहा की नमाज अदा करते अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री व अन्य।

कोरोना से मुक्ति के लिए मांगी दुआएं

नरकटियागंज| लाकडाउन के मद्देनजर स्थानीय नगर व ग्रामीण क्षेत्रों में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने घर पर ईदुल अजहा की नमाज अकीदत के साथ अदा किया है। नमाज के बाद लोगों ने देश को कोरोनावायरस से मुक्ति के लिए दुआएं मांगी। वहीं घर पर नमाज अदा करने से मस्जिद व ईदगाहों में पूरी तरह से विरानगी छाई रही। इस संबंध में नरकटियागंज अंजुमन इस्लामियां के सचिव गुलरेज अख्तर ने बताया कि सरकार द्वारा कोरोनावायरस को लेकर हुए लाकडाउन के जारी गाइड लाइन के अनुसार नगर व ग्रामीण इलाकों में शनिवार को ईदुल अजहा की नमाज लोग अपने-अपने घरों में अदा किएं हैं।

उन्होंने बताया कि नमाज को लेकर सभी मस्जिदों व ईदगाहों के इंतजामिया को सूचित कर दिया गया था कि लाकडाउन को लेकर ईदुल अजहा की नमाज़ मस्जिदों में नहीं बल्कि घर पर अदा की जाएगी। वहीं हाफिज़ मोहम्मद फैयाज आलम ने बताया कि ईद-उल फितर के बाद ईद-उल-अजहा यानी बकरीद मुसलमानों का दूसरा सबसे बड़ा पर्व है। दोनों ही मौके पर ईदगाह जाकर या मस्जिदों में विशेष नमाज अदा की जाती है। ईद-उल फितर पर सेवईयां बनाने का रिवाज है, जबकि ईद-उल अजहा पर बकरे की कुर्बानी दी जाती है।

उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी की वजह से नरकटियागंज समेत विभिन्न जगहों के लोग इस साल बकरीद की नमाज अपने घरों पर पढ़कर सभी की सलामती तथा मुल्क की तरक्की के साथ कोरोना जैसे बीमारी से मुक्ति के लिए दुआएं मांगी हैं। बता दें कि नगर के जमा मस्जिद, शिवगंज, पुरानी बाजार समेत सभी शहर व गांव के ईदगाहों में नमाज नहीं पढ़ने से सन्नाटा पसरा हुआ था। हालांकि मुहल्ले में घर पर नमाज़ पढने के बाद दिनभर ईदुल अजहा की लोगों ने एक-दूसरे की मुबारकबाद दे रहे थे। वहीं अधिकांश लोग शरीरिक दूरी को देखते हुए सोशल मीडिया के माध्यम से बधाई दिया।

लॉकडाउन का पालन करने की अपील की गई

कोरोना काल में लॉकडाउन का कोई उल्लंघन न करे बकरीद काे लेकर विधि-व्यवस्था संधारण को लेकर प्रखंड विकास पदाधिकारी सह दंडाधिकारी राघवेंद्र कुमार त्रिपाठी ने शहर के विभिन्न मार्गों का भ्रमण किया। इस दौरान उनके साथ शिकारपुर थाना के कई पुलिस पदाधिकारी व जवान भी इसमें शामिल थे। बीडीओ ने बताया कि ईद-उल-जुहा पर्व को देखते हुए शहर के पुरानी बाजार, शिवगंज, आर्यसमाज, हरदिया चौक व ब्लॉक रोड समेत कई मार्गों का निरीक्षण किया गया।

कोरोनावायरस का संक्रमण न फैले इसको देखते हुए मुस्लिम समुदाय के लोगों ने अपने घरों पर हीं नमाज अता किया। पूरे क्षेत्र में शांतिपूर्ण व हर्षोल्लाश के साथ पर्व को मनाया गया। बीडीओ ने यह अपील किया कि तीन दिवसीय इस पर्व को पूरे सद्भाव के साथ मनाएं। उन्होंने कहा कि 16 अगस्त तक लॉकडाउन का पूर्ण रूप से पालन करें व आवश्यकता अनुसार घर से बाहर निकलने पर मास्क का प्रयोग जरूर करें।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि के लिए ग्रह गोचर बेहतरीन परिस्थितियां तैयार कर रहा है। आप अपने अंदर अद्भुत ऊर्जा व आत्मविश्वास महसूस करेंगे। तथा आपकी कार्य क्षमता में भी इजाफा होगा। युवा वर्ग को भी कोई मन मुताबिक क...

और पढ़ें