मंगल गीत से गूंजा चहुंओर:श्रद्धा, विश्वास और उमंग के साथ हुई गोवर्धन पूजा

बेतियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • भाई-बहन के प्रेम व स्नेह का पावन पर्व है भैया दूज, महिलाओं व युवतियों में दिखा उत्साह

भाई दूज का त्याेहार शनिवार को जिले में उत्साह पूर्वक मनाया गया। सुबह महिलाओं व युवतियों ने गोवर्धन पूजा की। उसके बाद गोबर से बने गोवर्धन को कुटा गया। इस बीच मंगल गान भी चलता रहा। बहनों ने भाइयों की लंबी उम्र के लिए कामना की। गोवर्धन पूजा के बाद भाइयों को बजड़ी खिलाई। वही भाइयों ने भी बहनों को आशीष व उपहार दिए। आचार्य पंडित उमेश त्रिपाठी नहीं भैया दूज के महत्व पर प्रकाश डालते हुए बताया कि आज से शादी विवाह एवं शुभ काम का शुभारंभ हो जाएगा वर्ष के कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष के द्वितीय तिथि को बहन अपने भाई के लंबी उम्र की कामना करती है भाई-बहन के अटूट रिश्ते को प्रेम की डोरी में बांधने के लिए गोवर्धन भगवान से बहन आशीष मांगती हैं एवं प्रसाद स्वरूप अपने भाई को बजरी खिलाती हैं।

यह उत्सव पूरे जिले के सभी प्रखंडों में हर्षोल्लास मनाया गया। शनिवार को श्रद्धा पूर्वक भगवान चित्रगुप्त व कलम दवात की पूजा अर्चना की गई। सुबह से ही लोग पूजा की तैयारियों में लगे रहे। स्नान-ध्यान कर चित्रगुप्त भगवान व कलम दवात की पूजा की। पूजा अर्चना के बाद कई लोगों ने दिनभर कलम का उपयोग नहीं किया।

खबरें और भी हैं...