ऐसी लापरवाही से ही फैलती है बीमारी / प्रवासियों को जांच के लिए अस्पताल लाकर वापस नहीं ले गए हेल्थ मैनेजर

क्वारेंटाइन सेंटर के बाहर खड़े प्रवासी। क्वारेंटाइन सेंटर के बाहर खड़े प्रवासी।
X
क्वारेंटाइन सेंटर के बाहर खड़े प्रवासी।क्वारेंटाइन सेंटर के बाहर खड़े प्रवासी।

  • 4 प्रवासी 18 मई को परसौनी क्वारेंटाइन सेंटर पर आए थे जांच के लिए सभी को बगहा अनुमंडलीय अस्पताल ले गए
  • स्थानीय लोगों ने इन्हें बगहा अनुमंडल के पास के क्वारेंटाइन सेंटर में भर्ती कराया था, अब इस सेंटर के लोगों को भी खतरा है
  • इन प्रवासियों में से एक की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

बेतिया. पिपरासी प्रखंड के परसौनी क्वारेंटाइन सेंटर से चार प्रवासी मजदूरों को बीएचएम द्वारा ब्लड जांच के लिए बगहा ले जाया गया। लेकिन उन्हें लावारिस हालत में छोड़ दिया गया। चार दिनों तक इनकी सुधि नहीं मिलने से परिजन भी परेशान हो गए। इसको लेकर जनप्रतिनिधियों व परिजनों में आक्रोश है। पिपरासी प्रखंड के चार लोग राकेश यादव हिमांचल प्रदेश, एक युवक कर्नाटक से, सोनू राजभर राजस्थान व जयसू गुप्ता यूपी के खलीलाबाद से 18 मई को परसौनी क्वारेंटाइन सेंटर पर आए। जहां पिपरासी पीएचसी के स्वास्थ्य प्रबंधक रितेश कुमार स्वरुप ने सभी को संदिग्ध बताकर दो घंटे के लिए ब्लड जांच कराने के लिए बगहा अनुमंडलीय अस्पताल ले गए। लेकिन वहां छोड़कर गायब हो गए। जांच के बाद चारों लावारिश हालत में काफी समय तक वहीं पड़े रहे। बाद में वहां के स्थानीय लोगों को सारी बात बताने के बाद वे लोग बगहा अनुमंडल के समीप स्थित एक क्वारेंटाइन सेंटर में भर्ती करा दिया। प्रवासियों ने बताया कि उनका बैग व कपड़ा सबकुछ परसौनी क्वारेंटाइन सेंटर पर ही छोड़वा दिया गया था।
परिजनों व जनप्रतिनिधियों में आक्रोश
प्रवासियों के साथ ऐसे व्यवहार से नाराज परिजनों ने स्वास्थ विभाग के ऐसे करतूत के खिलाफ नाराजगी व्यक्त करते हुए दोषी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। स्वास्थ कर्मियों को प्रवासियों की जांच के बाद उचित स्थान पर रखना चाहिए था। अगर ऐसा नही कर पाए तो परिजनों व जनप्रतिनिधियों को सूचना देनी चाहिए थी ताकि उन लोगों की व्यवस्था की गई होती।

बाहर से आए चारों प्रवासी मजदूरों को बुलाने के लिए गाड़ी भेजी गई है। अनुमंडलीय अस्पताल में भीड़ होने की वजह से उन्हें जांच के बाद वहीं के क्वारेंटाइन सेंटर में रखवा दिया गया था। किट की व्यवस्था अस्पताल से नहीं की जाती है।
-रविंद्र कुमार मिश्र, पीएचसी प्रभारी, मधुबनी

चारो को जांच के लिए बगहा अनुमंडलीय अस्पताल में छोड़ा गया था। अब उनकी जांच हो चुकी है। रिपोर्ट नहीं मिली थी इसलिए उन्हें नहीं लाया गया था। गाड़ी भेजी गई है उनको बुलाया जा रहा है। 
-रितेश कुमार स्वरुप, स्वास्थ्य प्रबंधक, पिपरासी पीएचसी

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना