मजदूरों का आरोप / बेतिया में हाथ पर हाेम क्वारेंटाइन का मुहर लगाते ही भड़के प्रवासी, सड़क जाम कर हंगामा किया

पश्चिम चंपारण के मधुबनी प्रखंड में सड़क जाम कर प्रदर्शन करते उग्र प्रवासियों को शांत कराती पुलिस। पश्चिम चंपारण के मधुबनी प्रखंड में सड़क जाम कर प्रदर्शन करते उग्र प्रवासियों को शांत कराती पुलिस।
X
पश्चिम चंपारण के मधुबनी प्रखंड में सड़क जाम कर प्रदर्शन करते उग्र प्रवासियों को शांत कराती पुलिस।पश्चिम चंपारण के मधुबनी प्रखंड में सड़क जाम कर प्रदर्शन करते उग्र प्रवासियों को शांत कराती पुलिस।

  • आरोप- डिग्निटी किट के रुपए हड़पने के लिए घर भेज रहा प्रशासन
  • प्रशासन ने कहा- किट के रुपए उनके खाते में भेजे जाएंगे

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:50 AM IST

बेतिया. मधुबनी प्रखंड में धनहा मध्य विद्यालय स्थित क्वारेंटाइन सेंटर से सातवें दिन ही प्रवासियों को प्रशासन उनके घर जाने के लिए मुक्त करने लगा तो प्रवासी आक्रोशित हो चले। उनका कहना था कि उन्हें 21 दिन के लिए क्वारेंटाइन किया गया था। अभी सात दिन ही बीते हैं। उन्हें डिग्निटी किट के सामान से वंचित रखा गया है।

डिग्निटी किट के रुपए हड़पने की नियत से ही प्रशासन उन्हें घर भेज रहा है। हालांकि प्रवासियों को घर भेजने की यह प्रक्रिया सरकार के नए दिशानिर्देश के तहत शुरू की गई थी। जिसमें रेड जोन के चिह्नित इलाकों को छोड़कर अन्य जगहों से लौटे प्रवासियों को स्क्रीनिंग कर होम क्वारेंटाइन में ही भेजने का आदेश निर्गत किया गया है। 
शनिवार को मधुबनी सीओ रंजीत कुमार सेंटर पर पहुंचे एवं सेंटर के प्रवासी मजदूरों के हाथ पर मुहर लगाने की प्रक्रिया शुरू कराई। उन्होंने प्रवासियों को जानकारी दी कि जो लोग ग्रीन जोन से आए हैं, उन्हें होम क्वारेंटाइन के लिए भेजा जाएगा। इसलिए अब ज्यादातर लोग अपने अपने घर जाएंगे। प्रवासियों ने अबतक डिग्निटी किट से वंचित रखने का मामला उठाया तो सीओ ने बताया कि किट के रुपए उनके खाते में भेजे जाएंगे। इसके बावजूद प्रवासी मजदूर उग्र हो गए व हंगामा करने लगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना