पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गिरफ्तारी:जिला जज के पास जमानत के लिए भाई की जगह साला को किया प्रस्तुत, धराए

बेतिया11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिला व सत्र न्यायाधीश के यहां जमानत के लिए भाई की जगह प्रस्तुत साला को हाव भाव से गिरफ्तार कर लिया गया। बताते हैं कि लौरिया थाना में जानलेवा हमला व चोरी की धारा में वर्ष 2019 में दर्ज एक मामले में जमानत कराने के लिए एक व्यक्ति ने अपने भाई की जगह साले को न्यायालय में प्रस्तुत कर दिया। परंतु जिला व सत्र न्यायाधीश मनोज कुमार सिंह ने फर्जी व्यक्ति के हाव-भाव से गड़बड़ होने की आशंका पर पकड़ लिया । उन्होने कहा कि आप सभी को जेल जाना है। तब जयकिशोर कुशवाहा की जगह प्रस्तुत हुए बगहा के सेमरा थाना के तड़वलिया निवासी रितेश कुशवाहा वहां से खीसकने का प्रयास किया।

लेकिन पुलिस कर्मियों ने उसे पकड़ लिया। रितेश कुशवाहा तथा उसके बहनोई लौरिया के डुमरा भांट निवासी अजय कुशवाहा को नगर थाना की पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। मामले में प्राथमिकी दर्ज करने की कार्रवाई चाल रही है। बताते हैं कि डुमरा भांट निवासी हंशावती देवी ने लौरिया थाने में एक प्राथमिकी दर्ज करायी थी। इसमें सुरेश कुशवाहा, जयकिशोर कुशवाहा, प्रभु कुशवाहा, फुला देवी को नामजद आरोपी बनाया गया था। मामले में अभियुक्त पूर्व में जमानत ले चुके थे। लेकिन न्यायालय के निर्धारित समय पर उपस्थित नहीं होने के कारण उनकी जमानत रद्द हो गयी थी। न्यायालय से वारंट भी निर्गत था। न्यायालय में जमानत कराने के लिए सभी को आना था। लेकिन एक अभियुक्त जयकिशोर कुशवाहा काश्मीर में कमाने गए थे।

सोमवार को सुरेश कुशवाहा, प्रभु कुशवाहा तथा उनकी मां फुला देवी जमानत कराने न्यायालय में पहुंचे। जबकि जयकिशोर कुशवाहा नहीं थे। न्यायालय में पेशी के दौरान जयकिशोर के भाई अजय कुशवाहा ने अपने साले रितेश कुशवाहा को खड़ा करा दिया। अधिवक्ता भी जमानत कराने के लिए न्यायालय में मौजूद थे। न्यायाधीश ने अभियुक्तों के हाव-भाव से यह पकड़ लिया कि कुछ गड़बड़ है। जैसे ही उन्होंने कहा कि जेल जाना होगा तब रितेश कुशवाहा वहां से खीसकने का प्रयास किया लेकिन उसे वहां मौजूद पुलिस कर्मियों ने पकड़ लिया। पूछताछ करने पर सच्चाई सामने आ गयी। नगर थानाध्यक्ष राकेश कुमार भास्कर ने बताया कि दो लोगों को हिरासत में लिया गया है। मामले में प्राथमिकी दर्ज करने की कार्रवाई चल रही है।

खबरें और भी हैं...