पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जागरूकता:जीविका ने चमकी बुखार से निपटने को लेकर दिए टिप्स

बेतिया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जीविका जिला कार्यालय में चमकी बुखार या मस्तिष्क ज्वर जैसी घातक बीमारी के प्रति जागरूकता एवं प्रचार प्रसार के लिए शुक्रवार को एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन वेबिनार के माध्यम से किया गया। इस कार्यशाला में प्रखंडों से स्वास्थ्य एवं पोषण के सभी एमआरपी, क्षेत्रीय समन्वयक, स्वास्थ्य एवं पोषण प्रबंधक सतीश कुमार, पीसीआई के क्षेत्रीय प्रबंधक पंकज कुमार एवं प्रशिक्षण पदाधिकारी पिंटू कुमार शामिल हुए। स्वास्थ्य एवं पोषण प्रबंधक जीविका ने बताया कि चमकी बुखार जैसी बीमारी 1 से 15 वर्ष के बच्चों को प्रभावित करती है। उन्होंने बताया कि इस बीमारी से बचाव के लिए बच्चों को रात में सोने से पहले भरपेट खाना जरूर खिलाना चाहिए। सुबह उठते ही बच्चों को जगाना चाहिए और यह देखना चाहिए बच्चा कहीं बेहोश या उसे चमकी तो नहीं है। तीसरी ध्यान देने योग्य बातें यह है कि बेहोशी या चमकी दिखते ही तुरंत आशा दीदी से संपर्क करते हुए एंबुलेंस या निजी गाड़ी से अस्पताल जल्द से जल्द ले जाना चाहिए। पीसीआई क्षेत्रीय प्रबंधक पंकज कुमार ने वेबिनार से जुड़े एमआरपी दीदी को बताया कि मस्तिष्क ज्वर के लक्षण को पहचानना बहुत जरूरी है।

खबरें और भी हैं...