निर्जला व्रत:पुत्र की लंबी आयु के लिए माताओं ने रखा निर्जला व्रत

बेतिया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पुत्र की सलामती और लंबी आयु के लिए महिलाओं के द्वारा मनाए जाने वाला जीवित पुत्रिका व्रत अर्थात जिउतिया व्रत मैनाटांड़ प्रखंड क्षेत्र में धूमधाम और हर्षोल्लास से मनाया गया। माताओं ने पूजा अर्चना कर चौबीस घंटे का निर्जला व्रत रखा। वहीं पितरों की पूजा और ओरी के पास झींगुनी के पत्ता पर खरी के साथ पूजा-अर्चना की गई । पारन गुरुवार को होगा। आचार्य सुनिल मिश्रा ने बताया कि यह पर्व कृष्ण पक्ष की अष्टमी को मनाया जाता है। इस पर्व महिलाएं अपने पुत्र और पति की लंबी आयु के लिए किया करती हैं। इसमें जीमूत वाहन की कथा सुनी जाती है। कथा में जीमूत वाहन के अदम्य साहस से नाग जाति की रक्षा हुई और सबसे पुत्र की रक्षा के लिए और तब से पुत्र की रक्षा के लिए जीमूत वाहन की पूजा की प्रथा चली आ रही है।

खबरें और भी हैं...