पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गड़बड़ी:एक महीने पहले बनी सड़क उखड़ने लगी ताे ठेकेदार ने बालू से ढक दिया, ग्रामीणों में आक्रोश, जांच की मांग

बेतियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पिपरिया टोला से मंझरिया खास गांव तक ग्रामीण कार्य विभाग से बनी 1.66 किमी लंबी सड़क का मामला

प्रखंड स्थित मंझरिया पंचायत के पिपरिया टोला से मंझरिया खास गांव को आपस में जोड़ने के लिए ग्रामीण कार्य विभाग द्वारा 1.66 किमी लंबी सड़क का निर्माण एक माह पूर्व ही कराया गया था। पक्कीकरण सड़क ने निर्माण कार्य में बरती गई भारी अनियमितता के कारण सड़क निर्माण के एक माह के अंदर ही उखड़ने लगी है। वही इस अनियमितता को छिपाने के लिए संवेदक दियारा के सफेद बालू से सड़क को ढक दिया है। इसको ले ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है। वही सड़क के पक्कीकरण होने के बाद दो बार विभागीय अधिकारियों ने जांच भी की है।

जांच के दौरान भी अधिकारियों ने संवेदक को क्लीन चिट दे दिया। इसको ले ग्रामीणों ने विभागीय अधिकारियों के मिलीभगत का आरोप लगाते हुए उच्च अधिकारियों से जांच की मांग की है। वहीं, ऐसी ही हालात प्रखंड के अन्य सड़कों की भी है जहां संवेदक कोरोना काल व चुनाव चुनाव से पूर्व कार्य कराने की तेजी में सड़कों के निर्माण में गुणवक्ता का ख्याल नही किया है। इस कारण सड़कें निर्माण के साथ ही टूटने शुरू हो गई है। इधर, ग्रामीण कार्य विभाग के कार्यपालक अभियंता आनंद बिहारी झा ने बताया कि सड़क में बरती गई अनियमितता की जांच विभागीय एसडीओ से कराई जाएगी। अनियमितता मिलने पर संवेदक के भुगतान पर रोक लगा दिया जाएगा। संवेदक दिनेश यादव ने कहा कि सड़क मानक के अनुरूप बनाई गई है।

बालू इस लिए डाला गया है कि वाहन में चिपके नहीं। अनियमितता को देखते हुए ग्रामीणों ने आक्रोश व्यक्त किया। मंझरिया पंचायत के सरपंच चंद्रशेखर चौहान ग्रामीण दिनेश पांडेय, मुकेश श्रीवास्तव, कृष्णा गिरी, आमोद प्रयास, कमलेश आनंद आदि ने बताया कि प्रखंड जिला 100 किमी और अनुमंडल से 50 किमी दूरी पर है इस कारण अधिकारी भी बहुत ही कम आते है। बहुत से अधिकारी नियुक्त भी होते है और हस्तांतरण भी हो जाते है लेकिन इस प्रखंड में आने से कतराते है कारण की यह प्रखंड दियारावर्ती है। इसको देख संवेदक विभागीय कर्मियों की मिली भगत से खूब मनमानी करते है। ग्रामीणों की शिकायत भी अधिकारियों तक नही पहुच पाती है अगर पहुच जाती है तो अधिकारी भी संवेदक के साथ आते है और खानापूर्ति कर चले जाते है। इस कारण जांच अधिकारियों से करने की मांग की गई है।

1 करोड़ 62 लाख 94 हजार रुपए की लागत से हुआ था सड़क का निर्माण
इस सड़क के निर्माण के लिए स्थानीय लोगों ने विधायक से कई बार मांग किया था। ग्रामीणों की मांग व आवश्यकता को देखते हुए विधायक धीरेंद्र प्रताप सिंह उर्फ रिंकू सिंह ने इस सड़क का शिलान्यास किया था। इस सड़क के निर्माण कार्य शुरू होने पर लोगों में काफी खुशी का माहौल था कि आवागमन की सुगमता के साथ खेती करने में भी आसानी होगी। किसानों की फसल पहले खेतों से आराम से नही निकल पाती थी लेकिन अब आसानी से गन्ना व अन्य फसल ला सकते है। लेकिन निर्माण एक माह में ही सड़क के उखड़ने से लोगों में यह है कि बरसात के मौसम में सड़क का क्या हाल होगा। इस सड़क के निर्माण की जिम्मेदारी न्यू बिहार कंस्ट्रक्शन रामनगर को एक करोड़ 62 लाख 94 हजार में दी गई है।

बालू से ढके सड़क से लोगों को आवागमन में होती है दिक्कत| सड़क को उखड़ता देख संवेदक जल्दी बाजी में अपनी अनियमितता को छुपाने के लिए दियारा का बालू से पूरी सड़क को ढक दिया है। इस सफेद बालू से ढके होने के कारण लोगों को आवागमन में काफी दिक्कत होती है। दो पहिया वाहन जहां बालू में फिसलते है वही चार पहिया वाहन के जाते ही धूल उड़ने से राहगीरों को काफी दिक्कत होती है।

दो गांवों के साथ दो पंचायतों के लोग कम दूरी में पहुंचते है प्रखंड
इस सड़क के निर्माण हो जाने से पिपरिया टोला से मंझरिया खास गांव में आवागमन करने में सुगमता तो होगी ही साथ ही मंझरिया व सेमरा लबेदहा पंचायत के लोगों को प्रखंड, अंचल, थाना, अस्पताल व अन्य मुख्य बाजारों में आने जाने में काफी सुगमता होगी कारण की पूर्व में लोग यूपी होकर पांच से सात किमी अतिरिक्त दूरी तय करते थे लेकिन अब इतनी दूरी कम हो जाएगी। इससे लोग कम समय और आराम से प्रखंड तक पहुच जाएंगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपको कई सुअवसर प्रदान करने वाली हैं। इनका भरपूर सम्मान करें। कहीं पूंजी निवेश करने के लिए सोच रहे हैं तो तुरंत कर दीजिए। भाइयों अथवा निकट संबंधी के साथ कुछ लाभकारी योजना...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser