पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

घूस लेते धराए बड़ा बाबू:पीएचसी में सफाई कार्य के आवंटन-भुगतान के लिए रिश्वत ले रहेे थे सीएस ऑफिस के प्रधान सहायक

बेतिया8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पीएचसी में सफाई कार्य के लिए ठेकेदार से 49,500 हजार घूस लेते धराए बड़ा बाबू

निगरानी की टीम ने बुधवार को सिविल सर्जन कार्यालय के प्रधान सहायक शंभू शरण सिंह को गिरफ्तार कर ली है। उन्हें सफाई कार्य कराने के एवज में एक संवेदक से 49,500 रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथ दबोच लिया गया। गिरफ्तारी के बाद टीम प्रधान सहायक को लेकर पटना चली गई। छापेमारी की कार्रवाई बुधवार को दोपहर में हुई। छापेमारी के बाद सीएस कार्यालय में हड़कंप मच गया। प्रधान सहायक शंभुशरण सिंह मूल रूप से पूर्वी चंपारण जिले के है। उनका निवास स्थान मोतिहारी के मठिया डीह में है। निगरानी के डीएसपी सुरेंद्र कुमार मउवार ने बताया कि प्रधान सहायक शंभूशरण सिंह को उनके कार्यालय से 49,500 रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा गया है। वे पीएचसी में सफाई धुलाई का काम करने वाले संवेदक अस्पताल रोड के समीर सान्याल से रिश्वत ले रहे थे। समीर सान्याल ने इसकी शिकायत निगरानी से की थी। शिकायत के आलोक में सत्यापन के बाद कार्रवाई की गई है।

32 लाख आवंटन के लिए 49,500 घूस मांगने पर ठेकेदार ने निगरानी से की थी शिकायत

ठेकेदार को परेशान कर रहे थें प्रधान सहायक
निगरानी डीएसपी ने बताया कि संवेदक ने आरोप लगाया था कि प्रधान सहायक काफी दिनों से ठेकेदार को परेशान कर रहे थे। आवंटन व भुगतान के लिए रिश्वत की मांग करते थे। रिश्वत के लिए उसके काम में पेच फंसाते थे। निगरानी की टीम में डीएसपी के अलावा इंस्पेक्टर मिथिलेश जायसवाल, जहांगीर अंसारी, आसिफ इकबाल मेहदी, सब इंस्पेक्टर धर्मवीर कुमार सिंह सहित 10 लोग शामिल रहे।

कुछ पीएचसी में ठेकेदार कराते हैं सफाई का काम
सफाई कार्य का आवंटन विभाग के द्वारा सीएस कार्यालय को मिला करता है। जहां से पीएचसी को दिया जाता है। इसी क्रम में लोक विकास केन्द्र संस्था के संवेदक समीर सान्याल के द्वारा कुछ पीएचसी में सफाई के ठेका का कार्य कराया जाता है। 24 सितंबर से पूर्व में संवेदक ने भुगतान काे उप आवंटन करने को प्रधान सहायक से कहा। 32 लाख के आवंटन के लिए प्रधान सहायक के ने 49500 रुपए की मांग की।

खबरें और भी हैं...