पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आश्विन नवरात्र:नहीं बनेंगे पूजा पंडाल, मंदिरों में जाकर भक्त कर सकेंगे मां की आराधना

बेतिया15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कलश स्थापना आज, भक्तिमय हुआ माहौल, घोड़ा पर सवार होकर आएंगी माता, भैंसा पर होगी विदाई

वर्ष की चौथी व अंतिम नवरात्र आश्विन नवरात्र को लेकर मंदिरों में तैयारी पूरी हो चुकी है। पूजा पंडाल नहीं बनाए जाएंगे। चारों ओर माता के स्वागत का माहौल बन चुका है। बताया जाता है कि नवरात्र को लेकर शनिवार को कलश स्थापना होगी। वहीं 26 अक्टूबर को विजया दशमी मनाई जाएगी। कोरोना गाइडलाइन को देखते हुए मंदिरों में छोटी मूर्ति व पंडाल वाले पूजा स्थल पर छोटे पंडाल का निर्माण कराया गया है। शहर के प्रसिद्ध दुर्गा मंदिर सहित सभी मंदिरों में श्रद्धालु जाकर पूजा-अर्चना और दर्शन कर सकेंगे। बताया जाता है कि इस बार नवरात्र में माता का आगमन तुरंग वाहन यानि घोड़े पर हो रहा है। वहीं माता की विदाई महिषा यानि भैंसा पर होगी।

घटस्थापन का शुभ मुहूर्त सुबह 6.27 से 10.13 तक
पंडित आचार्य राधाकांत शास्त्री व आचार्य सुजीत द्विवेदी ने बताया कि नवरात्र में घट पूजन का अधिक महत्व है। इसे शुभ मुहूर्त में करना चाहिए। घट स्थापना का शुभ मुहूर्त 17 अक्टूबर को सुबह 6:27 से 10:13 तक है। अभिजित मुहूर्त 11:36 से 12:24 तक रहेगा। इस समय घटस्थापन किया जाय तो सब मंगल होगा।

नवरात्र के दिन पूजा की तिथियां

तिथि दिन पूजा अनुष्ठान व माता का स्वरूप
17.10.20 शनिवार कलश स्थापना, शैलपुत्री पूजा
18.10.20 रविवार ब्रह्मचारिणी की पूजा
19.10.20 सोमवार चंद्रघंटा की पूजा
20.10.20 मंगलवार कुष्मांडा की पूजा
21.10.20 बुधवार स्कंदमाता की पूजा
22.10.20 गुरूवार कात्यायनी पूजा, बेल निमंत्रण
23.10.20 शुक्रवार नवपत्रिका प्रवेश, महारात्रि, निशापूजा
24.10.20 शनिवार महागौरी पूजा व महाअष्टमी व्रत
25.10.20 रविवार सिद्धिदात्री पूजा, हवन
26.10.20 सोमवार अपराजिता पूजा, जयंती धारण

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप अपने अंदर भरपूर विश्वास व ऊर्जा महसूस करेंगे। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। तथा अपने सभी कार्यों को समय पर पूरा करने की भी कोशिश करेंगे। किसी नजदीकी रिश्तेदार के घर जाने की भी योजना बनेगी। तथ...

और पढ़ें