बढ़ा रोजगार:नंदपुर में उद्यमी योजना के तहत कपड़ा व्यवसाय शुरू, 6 युवा बने आत्मनिर्भर

बेतिया3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कपड़े की सिलाई करते युवा कारिगर। - Dainik Bhaskar
कपड़े की सिलाई करते युवा कारिगर।
  • नरकटियागंज में बने कपड़े भेजे जाएंगे दिल्ली, यूपी व नेपाल

मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के तहत शहर के नंदपुर में रेडीमेड कपड़ा उत्पादन का कार्य शुरू कर दिया गया है। रेडीमेड कपड़ों के उत्पादन से आधा दर्जन युवाओं को रोजगार मिला है तथा सभी युवा पहले दिल्ली में काम करते हैं। अब खुद गांव में रेडीमेड कपड़ा तैयार कर दिल्ली वह अन्य स्थानों पर भेजने का कार्य करने लगे तथा आत्मनिर्भर भी बन गए हैं। वहीं लॉकडाउन को लेकर वह घर आए हुए थे लेकिन नरकटियागंज में ही अपना रेडीमेड कपड़ा उद्योग शुरू कर दिया है। जिसके कारण उनकी बेरोजगारी भी दूर हो गई है।

जीशान रेडीमेड उद्योग के निदेशक अब्दुल हमीद ने बताया कि वह पहले दिल्ली में काम करते थे लेकिन कोरोना संक्रमण को लेकर जब लॉकडाउन लगा तो वह घर आ गए। घर आने के बाद उनके पास कोई कार्य नहीं था। इसी उपरांत उन्होंने मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के अंतर्गत अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए पहल किया। सरकार की ओर से मिलने वाली राशि को तीन किस्तों में प्राप्त किया तथा नियमानुसार अपना खुद का उद्योग शुरू कर दिया।

उन्होंने बताया कि उनके साथ दिल्ली में काम करने वाले चार-पांच युवा भी घर आने के बाद बेरोजगार हो गए थे लेकिन यह उद्योग शुरू करने के बाद अब सभी लोग मिलकर कार्य करते हैं तथा अपनी बेरोजगारी को भी दूर कर लिया है। साथ ही उन्होंने बताया कि कपड़ा सिलाई करने वाला सभी आधुनिक मशीन दिल्ली से ही खरीदारी कर अपने घर लाए और यहां पर कार्य शुरू कर दिया। बेरोजगारी युवाओं को रोजगार मिलने के बाद जुनून के साथ कार्य भी शुरू कर दिया है और लगभग आधा दर्जन युवा को रोजगार मिलना शुरू हो गया है तथा वे लोग अब आत्मनिर्भर भी हो गए हैं।

युवाओं ने कहा- अब बाहर नहीं जाएंगे, इसी उद्योग को बढ़ाएंगे
नरकटियागंज से निर्मित रेडीमेड कपड़े यहां तैयार होने के बाद उत्तर प्रदेश, दिल्ली एवं नेपाल भी भेजने की तैयारी में लगे हुए हैं। उन्होंने बताया कि आने वाले दिनों में वे लोग मिलकर कार्य और आगे तक लेजाएंगे। जल्द ही नरकटियागंज से निर्मित कपड़े उक्त स्थानों पर भेजे जाएंगे। अब्दुल हमीद ने बताया कि उनके साथ चंदन कुमार, खुर्शीद आलम, शकील अंसारी, गौतम कुमार, नजीर आलम व आसिफ अनवर मिलकर कार्य कर रहे हैं तथा आत्मनिर्भर भी बन चुके हैं। उन्होंने नरकटियागंज में रोजगार मिलने के साथ अब वे लोग इस जगह को छोड़कर बाहर नहीं जाएंगे तथा इसी उद्योग को बढ़ावा भी देंगे। युवाओं के इस कार्य से आसपास के लोग काफी सराहना भी कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...