पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आयोजन:केविवि में सांसद क्षेत्र विकास योजना से बनेगी चहारदीवारी प्रवेश मार्ग का होगा निर्माण, पूर्व केंद्रीय मंत्री ने किया शिलान्यास

बेतियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • निर्माण कार्यों पर 50 लाख रुपए होंगे खर्च, कार्यक्रम में कला संस्कृति मंत्री व कुलपति भी थे मौजूद

महात्मा गांधी केंद्रीय विवि की अपनी जमीन पर सांसद स्थानीय क्षेत्र विकास योजना अन्तर्गत 50 लाख लागत से सामने की चहारदीवारी व प्रवेश मार्ग के निर्माण का शिलान्यास पूर्व केन्द्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने किया। इस अवसर पर कला संस्कृति मंत्री प्रमोद कुमार व कुलपति प्रो. संजीव कुमार शर्मा के अलावा प्राध्यापक, छात्र व स्थानीय मुखिया सहित ग्रामीण भी मौजूद थे। श्री सिंह ने कहा कि मोदी सरकार आने के बाद महात्मा गांधी केंद्रीय विवि संसद के एक अधिनियम, केंद्रीय विवि (संशोधन) अधिनियम 2014 (2014/35) द्वारा अस्तित्व में आई। विवि 3 फरवरी 2016 को कार्यात्मक हो गया। एमजीसीयू राष्ट्रीय राजमार्ग 28 पर मोतिहारी के बनकट में स्थित है।

दो प्रमुख शैक्षिक क्षेत्रों में सिद्ध हो रहा उत्कृष्ट केंद्र

एमजीसीयू बेसिक एप्लाइड और तकनीकी शैक्षिक दोनों क्षेत्रों में उच्च अध्ययन का एक उत्कृष्ट केंद्र सिद्ध हो रहा है। कुल चार स्नातक, 22 स्नातकोत्तर, 19 विषयों में एम. फिल और 20 विषयों में पीएचडी व कुल सात स्कूलों और उनके तहत 20 शिक्षण विभाग के तहत अध्ययन के कार्यक्रम संचालित हैं।

पीएम ने डॉ. मुखर्जी के सपनों को पूरा किया : राधामोहन सिंह

सदर प्रखंड के राजकीय मध्य विद्यालय रुलही के प्रांगण में डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा का सांसद राधामोहन सिंह ने अनावरण किया। इस प्रतिमा की स्थापना में विधायक व मंत्री प्रमोद कुमार का विशेष योगदान है। इस अवसर पर मंत्री प्रमोद कुमार, भाजपा जिलाध्यक्ष प्रकाश अस्थाना, पुष्कर बनर्जी, रावेंद्र चंद्र साहा, नारायण कुमार दास, सरबजीत बोस, अतुल कुमार दास, निमिचंद दास, सुनील सिंह, राजेश सिंह, कामेश्वर चौरसिया, मैनेजर सिंह, संजय ठाकुर, गणेश कुमार सिंह, नरेंद्र सिंह, गौरीशंकर प्रसाद भी थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले कुछ समय से आप अपनी आंतरिक ऊर्जा को पहचानने के लिए जो प्रयास कर रहे हैं, उसकी वजह से आपके व्यक्तित्व व स्वभाव में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे। दूसरों के दुख-दर्द व तकलीफ में उनकी सहायता के ...

और पढ़ें