फाॅलाेअप:बाघ-बाघिन की मेटिंग में खलल बनने के कारण शावक की माैत

बेतिया14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • नेपाल के चितवन से पहुंची थी बाघिन

वीटीआर के जंगल में बाघ के मादा शावक की मौत मामले में अहम खुलासा यह हुआ है कि नेपाल के चितवन जंगल से एक बाघिन वीटीआर के जंगल में घुस आई थी। बाघिन के साथ ही यह शावक था। वीटीआर में कौलेश्वर मंदिर के पास एक बाघ ने उसके साथ मेटिंग की कोशिश की, जिसमें खलल डालना शावक को महंगा पड़ गया। गुस्साए बाघ ने शावक की जान ले ली। मृत पाए गए शावक के गला व माथे पर गहरे जख्म मिले। उसके अन्य सभी अंग सुरक्षित पाए गए हैं। वीटीआर के वन संरक्षक हेमकांत राय ने बताया कि कौलेश्वर मंदिर के समीपवर्ती जंगल में एक बाघिन की गतिविधियां 3 - 4 जनवरी को ट्रैप कैमरे में कैद हुई हैं।

धारियों की जांच के दौरान खुलासा हुआ है कि यह बाघिन नेपाली थी। जानकारों की मानें तो बाघिन का शावक जबतक उसका साथ नहीं छोड़ देता, तब तक वह मेटिंग से परहेज करती है। इस आधार पर माना जा रहा है कि बाघिन की अनिच्छा के खिलाफ गुस्साए बाघ ने उसके शावक को मार डाला हो। वन संरक्षक ने बताया कि लगभग 8 माह के इस शावक के दूध के दांत भी अभी टूट नहीं पाए थे। फिलहाल मृत पाए गए शावक का बेसरा जांच के लिए पटना, बरेली व देहरादून भेजा गया है।

खबरें और भी हैं...