पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

परेशानी:इथेनाॅल प्लांट से निकल रहे विषाक्त धुंआ व पानी से आसपास के 9 गांवों की 35 हजार आबादी त्रस्त

बेतिया/मझौलियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अब चापाकल से भी निकलने लगा है गंदा पानी : 4 दिनों से ग्रामीणों के साथ धरना दे रहा किसान यूनियन

मझौलिया में इथेनाॅल प्लांट से निकल रहे विषैला धुंआ व विषाक्त जल से आसपास के नौ गांवों की करीब 35 हजार आबादी परेशान है। धुंआ से जहां वायु प्रदुषण हो रहा है तो वहीं जल से मिट्टी व जल प्रदुषण हो रहा है। इसकी वजह से किसानों के फसल को भी क्षति हो रही है। इसको लेकर प्रखंड किसान यूनियन ग्रामीणों के साथ चार दिनों ने गुरुचुरवा चौक पर धरना प्रदर्शन कर रहा है। लेकिन उनकी व्यथा नहीं सुनी जा रही है। धरना प्रदर्शन कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे किसान यूनियन के अध्यक्ष रमेश प्रसाद कुशवाहा ने कहा कि इस एथेनॉल प्लांट से निकल रहे विषैले धुंआ एवं निकल रहे गंदा पानी से भूमि समेत पर्यावरण दूषित हो रहा है। भूमि के दूषित होने से 5000 किसानों की खेतों में लगाए गए फसल पूर्ण रूप से प्रभावित हो गई है।

जबकि वायु प्रदुषण से मझौलिया के गुरचुरवा, भानाचक, बैठनिया, श्यामपुर, मझौलिया, बसड़ा, हरिपकड़ी, महोदीपुर, सतभिड़वा आदि की करीब 35 हजार की आबादी त्रस्त है। प्रदर्शन कर रहे सुनील पासवान, अमेरिका पासवान, मैनेजर यादव, बद्री यादव, मुन्ना कुशवाहा, गोरख गिरी, बेलदारी राम, सुरेंद्र प्रसाद कुशवाहा, दीनानाथ साह, काशी राम, हरिशंकर राम, नरेश गिरी, ओमप्रकाश, महेश गिरी, रवि पटेल, लालू पटेल आदि ग्रामीणों ने बताया कि इथेनाॅल प्लांट से निकल रहा गंदा पानी जमीन के अंदर जाकर चापाकल के पानी को भी दूषित कर रहा है। रमेश कुशवाहा ने आरोप लगाया कि जब इस संबंध में मिल प्रबंधन से बात करनी चाही गई तो उन्हें बात करने के बजाय बाहर निकाल दिया गया।

भूमि के दूषित होने से 5000 किसानों के खेतों में लगाई गई फसल पूर्ण रूप से प्रभावित

धरना के लिए नहीं ली गई है अनुमति : प्रखंड प्रशासन
धरना की बात जब प्रखंड प्रशासन व स्थानीय थाना से की गई तो उनका कहना था कि किसी भी धरना के लिए कोई परमिशन किसान यूनियन की ओर से नही लिया गया है। उधर, किसान यूनियन के अध्यक्ष रमेश कुशवाहा ने बताया कि वे धरना के लिए अनुमति लेने एसडीओ, बीडीओ व थाना पर गए थे। उन्हें अनुमति नहीं दी गई। जिसके बाद स्पीड पोस्ट से धरना की सूचना एसडीएम को दी है।

किसान यूनियन ने डीएम और एसपी को भी दिया आवेदन
किसान यूनियन ने प्रदुषण को लेकर डीएम, एसपी, एसडीएम, सीओ व थानाध्यक्ष के साथ सेंट्रल प्रदुषण कंट्रोल बोर्ड नई दिल्ली एवं प्रदुषण कंट्रोल बोर्ड पटना को भी अावेदन दिया है। बताया जाता है कि इसके पहले भी प्रदुषण बोर्ड व डीएम को आवेदन दिया गया था। जिस पर प्रदुषण बोर्ड ने आकर जांच की थी।

दबाव बनाने के लिए किया जा रहा है विरोध : सीजीएम
मझौलिया चीनी मिल के सीजीएम इंदीप सिंह भाटिया ने बताया कि प्रदुषण की टीम प्रत्येक साल निगरानी करती है। पानी कही नहीं गिर रहा है। चीनी मिल पर दबाव डालने व रुपया ऐंठने के लिए कुछ लोग बेवजह प्रबंधन पर दबाव बना रहे है। इसमें वे लोग भी शामिल है जिनका घर सड़क के जमीन पर बना है।

जनप्रतिनिधियों ने भी किया आंदोलन का समर्थन

मझौलिया पंचायत के मुखिया अनिल कुमार बैठा ने किसानों के इस धरना प्रदर्शन का समर्थन किया है । उन्होंने कहा कि इस एथेनॉल प्लांट से आसपास के वातावरण दूषित होने के साथ-साथ भूमि भी प्रदूषित हो रहा है। उन्होंने बताया कि हम जनप्रतिनिधियों के द्वारा भी अनेक बार इसकी शिकायत मिल प्रबंधन से किया गया है। अब पानी का कलर भी बदलता जा रहा है इससे किसानों के हजारों एकड़ फसल भी नुकसान हुई है।

मामला संज्ञान में आया है। मामले की जांच करायी जाएगी। अगर किसान व ग्रामीणों को परेशानी हो रही है तो उसका समुचित निदान कराने का निर्देश मझौलिया चीनी मिल को दिया जाएगा। कुंदन कुमार, डीएम, पश्चिमी चंपारण

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज समय बेहतरीन रहेगा। दूरदराज रह रहे लोगों से संपर्क बनेंगे। तथा मान प्रतिष्ठा में भी बढ़ोतरी होगी। अप्रत्याशित लाभ की संभावना है, इसलिए हाथ में आए मौके को नजरअंदाज ना करें। नजदीकी रिश्तेदारों...

और पढ़ें