पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दियारा का दर्द:घरों में घुसा पानी, सड़क पर कट रही है जिंदगी

बेतियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नौतन के मंगलपुर के पास चंपारण तटबंध पर बाढ़ प्रभावित लोग शरण लिए हुए हैं। इस साल मानसून के आगमन के साथ ही यह तटबंध सैकड़ों लोगों का शरणस्थली बना हुआ है। लेकिन यहां अभी तक बाढ़ पीड़ितों के बीच कोई भी सरकारी मदद नहीं पहुंची है। - Dainik Bhaskar
नौतन के मंगलपुर के पास चंपारण तटबंध पर बाढ़ प्रभावित लोग शरण लिए हुए हैं। इस साल मानसून के आगमन के साथ ही यह तटबंध सैकड़ों लोगों का शरणस्थली बना हुआ है। लेकिन यहां अभी तक बाढ़ पीड़ितों के बीच कोई भी सरकारी मदद नहीं पहुंची है।

जिले में हर साल बरसात और बाढ़ के समय चंपारण तटबंध लोगों का सहारा बनता है। बाढ़ में घर डूब जाने के बाद सैकड़ों का ठीकाना और हजारों की सुरक्षा कवच के रूप में स्थित बैरिया के पूजहा पटजिरवा से डूमरिया घाट तक बना चंपारण तटबंध इन दिनों में दियारा के सैकड़ों घरों के हजारों लोगों का आश्रय स्थल है। इस साल तो मानसून के आगमन के साथ ही यह तटबंध सैकड़ों लोगों का शरणस्थली बना हुआ है। जहां दो दिनों से सैकड़ों बाढ़ पीड़ित प्लास्टिक टांग कर और टेंट बनाकर शरण लिए हुए हैं और किसी तरह गुजार बसर कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...