पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आफत की बाढ़:लगातार हो रहे बारिश व गंडक नदी के उफान से हजारों घरों में घुसा पानी

बेतिया10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नाव से नदी पार करते लोग। - Dainik Bhaskar
नाव से नदी पार करते लोग।
  • गंडक बराज से लगातार पानी छोड़े जाने और बारिश के कारण दर्जनों गांवों में घुसा बाढ़ का पानी

आफत : श्रीपतनगर गांव के मनरेगा से निर्मित बांध पर कटाव जारी

गंडक बैराज से लगातार पानी छोड़े जाने से गंडक नदी के जलस्तर में हो रहे परिवर्तन व मुसलाधार बारिश से प्रखंड क्षेत्र के दर्जनों गांव में पानी घुस गया है। प्रखंड गंडक नदी के किनारे ही बसा हुआ है। इस कारण गंडक के जलस्तर के परिवर्तन होने पर कई गांव उसके चपेट में आ जाते है।  बारिश व बाढ़ के पानी के दबाव से श्रीपतनगर गांव को बचाने के लिए मनरेगा योजना से बने बांध पर कटाव शुरू हो गया है इससे स्थानीय लोगों के साथ सीमावर्ती यूपी के लोगों में दहशत बना हुआ है। बांध टूटने के कारण ही 2017 में दर्जनों गांव प्रभावित हुए थे। इसी को ध्यान में रख कर लोगों में भय बना हुआ है। गांव के लोग अब धीरे धीरे पलायन करना शुरू कर दिए है।

बांध का होता कटाव और घरों में घुसा पानी।
बांध का होता कटाव और घरों में घुसा पानी।

निर्माणाधीन रेल बांध पर भी हो रहा है कटाव
पिपरासी प्रखंड के सेमरा लबेदहा पंचायत के मुखिया छेदीलाल प्रसाद ने बताया कि निर्माणाधीन छितौनी तमकुही रेल परियोजना के लिए बने बांध पर भी कटाव शुरू हो गया है। इसके कटाव हो जाने से स्थिति और ही भयावह हो जाएगी। इस समय पूरे पंचायत में तीन से चार फीट पानी लग गया है। बांध के कटाव की सूचना के बाद भी अभी तक मौके पर कोई भी अधिकारी नही पहुंचा है।

अर्धनिर्मित रेल बांध से लोगों की बढ़ी मुश्किलें

ग्रामीणों ने बताया कि रेल बांध के पूरा हो जाने से बाढ़ से बचाव हो जाता लेकिन रेल द्वारा अधिग्रहित भूमि में दसको से बसे लोगों का सुरक्षित स्थान पर विस्थापन नही होने से यह मुश्किल और ही बढ़ गई है। वहीं, इस कारण मंझरिया पंचायत के एक दर्जन गांव भी जलमग्न हो गए है। पंचायत के भगहवा, सिसकारी, सितुहिया, पिपरिया टोला, कतकी आदि गांव बाढ़ के पानी से प्रभावित है।

सिसई पंचायत का सड़क से संपर्क भंग, नाव के सहारे बाहर जाते हैं लाेग

दो नाव की व्यवस्था अंचल कार्यालय ने की है, एक का ही हो रहा परिचालन

गंडक नदी के जल स्तर में बढ़ोतरी के साथ ही मधुबनी प्रखंड की दियरा वर्ती सिसई पंचायत के सभी गांवों का मुख्य सड़क से संपर्क टूट गया है। धनहा-रतवल मुख्य मार्ग एवं रतवल-रजवटिया पीपी तटबंध पर पहुंचने के लिए इस पंचायत के लोगों को नाव का सहारा लेना पड़ा है। गंडक नदी के साथ ही रोहुआ नदी का भी जल स्तर काफी बढ़ गया है। इस पंचायत के लोगों को बगहा जाने के लिए कमर से ऊपर पानी पारकर मुख्य सड़क पर पहुंचना पड़ रहा है।

धनहा-रतवल मुख्य मार्ग पर पहुंचने के लिए नैनहा ढाला के समीप रोहुआ नदी को नाव से पार करना पड़ रहा है। दियारे के निचले हिस्सों में बाढ़ का पानी फैल गया है। दियारे के लोग अपने मवेशियों  को लेकर ऊंचे स्थानों के तरफ पलायन करने लगे हैं। मधुबनी सीओ ने गंडक नदी के जल स्तर में वृद्धि को देखते हुए दो दिन पहले ही दियारे के लोगों को पूरी तरह से अलर्ट रहने की हिदायत दी थी।

नदी का जलस्तर बढ़ने से चारों तरफ से घिरी सिसई पंचायत
सिसई पंचायत के मुखिया बालमुकुंद गद्दी ने बताया कि सिसई पंचायत के सोहगी बरवा, महुअवा, नाराहवा, घोड़ाहवा गांव गंडक नदी के जल स्तर बढ़ने के कारण चारों तरफ से घिर गया है। इस पंचायत के लोग अपने जरूरी कार्यों के लिए कमर से ऊपर पानी पारकर मुख्य सड़कों तक पहुंच रहे हैं। अंचल कार्यालय के तरफ से इस पंचायत की सुविधा के लिए दो नाव की व्यवस्था की गई थी। फिलहाल नैनहा ढाला के समीप रोहुआ नदी में एक नाव का परिचालन हो रहा है। इधर, धनहा पुल चौक से लेकर मधुबनी अंचल की तरफ जाने वाली पीपी तटबंध की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। अभियंता पीपी तटबंध सहित सभी प्वाइंटों का जायजा ले रहे हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत होगा। जिससे आपकी विचार शैली में नयापन आएगा। दूसरों की मदद करने से आत्मिक खुशी महसूस होगी। तथा व्यक्तिगत कार्य भी शांतिपूर्ण तरीके से सुलझते जाएंगे। नेगेट...

    और पढ़ें