पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

नाराजगी:रोड नहीं तो वोट नहीं का नरहरपकडी के लोगों ने लगाया बैनर, वोट बहिष्कार करने का निर्णय

चकिया12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • नरहरपकड़ी व सबली के लोगों ने मांगों के समर्थन में अपनी आवाज बुलंद की

आगामी विधानसभा चुनाव से पूर्व प्रखंड क्षेत्र के नरहरपकड़ी गांव व सबली गांव वासियों ने अपनी पुरानी मांग के समर्थन में अपनी आवाज बुलंद की है। ग्रामीणों का कहना है कि रोड नहीं तो वोट नहीं। दोनों गांव वासियो वोट बहिष्कार करने का निर्णय लिया है। क्योंकि यह किसी दल के विरोध या समर्थन से जुड़ा ना होकर सीधे गांव के विकास से जुड़ा मुद्दा है। इसलिए गांव वासी एकजुट है। ज्ञात हो कि नरहर पकड़ी व सबली गांव को प्रखंड मुख्यालय से जोड़ने वाली एक मात्र सड़क लगभग तीन माह पहले पानी के तेज दबाव से बह गया था जो आज तक नही बना। जिससे दोनों गांव के करीब दो हजार लोगो को आने-जाने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। गांव में लोग या तो पानी तैर कर या नाव से आ-जा रहे है।

नरहर पकड़ी व सबली गांव नदी से तीन तरफ से घिरा है। जबकि बरसात के दिनों में बारिश तथा नदी के जलस्तर में वृद्धि होने से चारों तरफ से घिर जाता है। इस कारण उस गांव के लोगों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ग्रामीण हरेंद्र प्रसाद यादव, जय चंद्र प्रसाद, बैजू राय, राम जन्म पटेल,राज कपिल पटेल,ओम प्रकाश यादव, राजू पटेल, धीरज कुमार पटेल, विक्की कुमार पटेल, विजय कुमार पटेल, विजय सहनी, दिनेश पटेल, मोहन कुमार पटेल, सरोज विश्वास, श्याम बाबू यादव, रामबाबू राय, गुड्डू कुमार, दिलीप कुमार, विनोद कुमार ने बताया कि उनका गांव मधुबन व चकिया के बॉर्डर पर चकिया प्रखंड में है। गांव के लोग श्रमदान से बीते कुछ माह पहले ईंट राबीश से सड़क बनाए थे। जो पानी के दबाव से बह गया है। हर वर्ष हम लोग श्रमदान से रोड बनाते हैं वह हर वर्ष बाढ़ के पानी में बह जाता है।इस रोड पर ना सरकार ना ही कोई जनप्रतिनिधि का ध्यान जाता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थितियां आपके पक्ष में है। अधिकतर काम मन मुताबिक तरीके से संपन्न होते जाएंगे। किसी प्रिय मित्र से मुलाकात खुशी व ताजगी प्रदान करेगी। पारिवारिक सुख सुविधा संबंधी वस्तुओं के लिए शॉपिंग में ...

और पढ़ें