पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वायरल बुखार:डीएमसीएच के शिशु वार्ड में वायरल बुखार के 2 समेत 6 गंभीर बच्चे भर्ती, 29 बच्चे हुए डिस्चार्ज

दरभंगा11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • रविवार काे 53 बच्चे इलाज काे पहुंचे, एनआईसीयू फुल होने पर दो बच्चे को पीकू-नीकू वार्ड में भेजा

डीएमसीएच के शिशु वार्ड में वायरल बुखार के बच्चे के आने का सिलसिला जारी है। वायरल बुखार के फिर 2 नए मरीज भर्ती हुए। शिशु विभाग के इमरजेंसी में रविवार को 53 मरीज इलाज के लिए पहुंचे। जिसमें से 2 वायरल बुखार समेत 6 गंभीर बच्चे को भर्ती किया गया, वाकी के 27 बच्चे को दवा लिखकर घर भेज दिया गया।

सुखद बात यह है कि अस्पताल आने वाले इन बच्चे में से कुछ ही बच्चे की भर्ती करनी पड़ रही है। राहत की बात यह भी पिछले 24 घंटे में शिशु वार्ड में भर्ती एक भी बच्चे की मौत नहीं हुई। जबकि शिश़ु मेडिसिन में 57, नीकू और पीकी में 30, एनआईसीयू वन में 15 व एनआईसीयू में 19 और एनआरसी 2 मरीज भर्ती है। इन वार्डों से पहले से भर्ती 29 बच्चे को डिस्चार्ज किया गया। वर्तमान समय में शिशु विभाग में सर्दी, खांस, पजड़े मारने, निमोनिया, डाइरिया, चमकी बुखार व अन्य बीमारियों से पीड़ित बच्चे से बेड भरे हुए हैं।

एनआईसीयू में जगह नहीं नवजात को पीकू-नीकू रखा

समस्तीपुर जिला के काजल ने बताया कि मेरा तीन दिन का बच्चा शनिवार को डीएमसीएच के भर्ती किया गया। एनआईसीयू में जगह नहीं रहने के कारण रविवार को उसे पीकू-नीकू वार्ड के भेज दिया गया। डिलेवरी 7 माह में ही हो गया। जिसके कारण बच्चा कमजोड़ है। बच्चे को पीकू-नीकू वार्ड में जिस वार्मल में रखा गया था, वे नहीं चल रहे थे। परमेश्वरी देवी के 15 दिन का लड़का भी खराब वार्मर बेड पर लेटा हुआ था। पुछे जाने पर बच्चे की मां परमेश्वरी देवी ने बताया कि इस वार्ड में पंखे धीरे-धीरे चल रहे है। जिसके कारण छोटे बच्चे को परेशानी हो रही थी। एनआईसीयू में जगह नहीं होने के कारण बच्चे को भी पीकू-नीकू वार्ड में भेज दिया गया।

खबरें और भी हैं...