कोरोना अपडेट / 8 काेराेना संक्रमित मरीज डीएमसीएच से स्वस्थ होकर गए घर, 31 मरीजों के डाइट पर दिया जा रहा है विशेष ध्यान

X

  • जिले में अब तक पाए गए पॉजिटिव में दिल्ली, मुंबई एवं कोलकाता केे हैं प्रवासी मजदूर

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

दरभंगा. जिले में कोरोना के  पॉजिटिव मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। फिर शनिवार को 9 प्रवासी मजदूरों में कोरोना की पुष्टि है। यह सभी मजदूरों को क्टारेंटाइम सेंटर में ही रह रहे थे। इस तरह शनिवार को जिले में 9 पॉजिटिव के मिलने से जिले में कोरोना का ग्राफ बढ़ कर 39 तक पहुंच गया है। वैसे लोगों के लिए खुशखबरी यह है कि कुल 39 पॉजिटिव केस में से 8 पॉजिटिव मरीज दरभंगा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (डीएमसीएच) से स्वास्थ्य होकर अपने घर चले गए हैं। बाकी बचे 31 पॉजिटिव मरीजों का बेहतर इलाज डीएमसीएच में चल रहा है। अभी तक दरभंगा जिला में कोरोना पॉजिटिव मरीजों में सबसे ज्यादा मुंबई से ही आने वाले प्रवासी मजदूर है। वहीं प्रखंडों की बात करें तो सबसे ज्यादा बिरौल प्रखंड से हैं। अभी तक आए सभी कोरोना पॉजिटिव मरीजों की उम्र 17 से 49 साल के बीच तक के है। सिविल सर्जन डॉक्टर संजीव कुमार ने कहा कि विभिन्न प्रखंडों के क्वारेंटाइन सेंटर में रहे प्रवासी मजदूरों का प्रतिदिन 50 से 60 सैंपल की जांच हो रही है। उसी में से पॉजिटिव पाए जा रहे हैं। यह सभी विभिन्न प्रखंडों के क्वारेंटाइन सेंटर से आ रहें है। इन्हीं सेंटर से जांच सैंपल प्रतिदिन लिए जा रहे हैं, जिसमें से पॉजिटिव पाए जा रहे हैं। अभी तक दिल्ली, कोलकाता, मुंबई से जो प्रवासी मजदूर आए हैं, उन्हीं में कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि हुई है। इसमें सबसे ज्यादा मुंबई से ही आने वाले प्रवासी मजदूर हैं, जिसमें कोरोना पॉजिटिव पाए गए।  इनमें से कुछ मजदूर को ट्रेन से लाया गया हैं और कुछ खुद ही अपनी सवारी से घर लौटे हैं। जिसकी सूचना मिलने पर प्रशासन ने क्वारेंटाइन करके रखे हुए हैं।

ऐसे बढ़ी कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या
दरभंगा जिला में सबसे पहले कोरोना के पॉजिटिव मरीज की पुष्टि 27 अप्रैल को हुई थी। जो दिल्ली से आए थे। 29 अप्रैल को पहले पॉजिटिव के संपर्क में आए चार लोगों में भी जांच में पॉजिटिव पाए गए। 7 मई को बिरौल के 3 मरीजों में कोरोना की पुष्टि हुई। जो कोलकाता से आए थे। वहीं एक पहले मरीज के संपर्क में आए शोभन महिला भी पॉजिटिव पाई गई। इसके बाद 10 मई को गौरा बौराम की कन्हाई गांव के चिकित्सक एवं अलीनगर एक युवक पॉजिटिव पाए गए। वहीं 11 मई को किरतपुर प्रखंड के 3 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए, जो मुंबई से आए थे। 12 मई को 2 लोग पॉजिटिव पाए गए। जिसमें से एक हनुमान नगर के थे और एक बेनीपुर के थे। 20 मई को कुछ 14 लोग एक साथ काेराेना पॉजिटिव पाए गए। जिसमें से तीन सदर,एक अलीनगर, एक कुशेश्वरस्थान, एक बेनीपुर, 4 बिरौल, तीन सतीघाट, एक सिंहवाड़ा के हैं। वहीं 23 मई को कुल 9 प्रवासी मजदूर पॉजिटिव पाए गए हैं। जिसमें से बहादुरपुर प्रखंड के 3, गौड़ाबौराम 2, सदर 2 वह बेनीपुर के 2 प्रवासी मजदूर पॉजिटिव पाए गए।
डाॅक्टर की अपील- समाज के लोग नहीं करें भेदभाव

कोरोना मरीजों से नफरत नहीं करें। उन्हें मानसिक रूप से सपोर्ट करें। कोरोना बीमारी से पॉजिटिव मरीज स्वास्थ्य हो रहे हैं। ऐसे में समाज में इनके प्रति जरा भी भेदभाव नहीं करना चाहिए। उनकी हर तरह से मदद करनी चाहिए, ताकि उनके हौसले बढ़े। आइसोलेशन में 130 है जिसे बढ़ाकर एक शॉप 230 किया जा सकता है। करुणा पॉजिटिव वार्ड में अभी 80 वर्ड है जिसे सौ किया जा सकता है। वहीं अस्पताल के विभिन्न वार्डों में 500रिचार्ज कर रखा गया है जरूरत पड़ने पर इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।
डॉ. राज रंजन प्रसाद, अधीक्षक, डीएमसीएच
कोरोना पॉजिटिव मरीजों का रिकवरी रेट डीएमसीएच में अच्छा है। अभी तक 8 मरीज को स्वस्थ्य होकर भेजा गया है। वैसे कोरोना वायरस के लिए अभी तक तो कोई दवा नहीं आई है। विटामिन सी एवं इम्यूनिटी बढ़ाने की दवा दे रहे हैं। लेकिन हम लोग विशेष ध्यान मरीजों के डाइट पर दे रहे हैं। उसे अच्छा खाना मिले और समय से मिले इसका पूरा ख्याल रखा जा रहा है। दूध, अंडा एवं फल डाइट में दिया जा रहा है। जिससे मरीज के शरीर में इम्यूनिटी बढ़ता है और वे स्वस्थ होकर अपने घर जा रहे हैं। 
डॉ. प्रवीण सिंह, नोडल अधिकारी, कोरोना वार्ड

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना