कोरा क्वारेंटाइन सेंटर का मामला / खराब चापाकल व शौचालय की शिकायत की तो बीडीओ और सीओं ने 2 युवकाें को कमरे में बंद कर गार्ड से पिटवाया

कोरा क्वारेंटाइन सेंटर पर पिटाई के बाद महेश के पैर में चोट के निशान और सूजन। कोरा क्वारेंटाइन सेंटर पर पिटाई के बाद महेश के पैर में चोट के निशान और सूजन।
X
कोरा क्वारेंटाइन सेंटर पर पिटाई के बाद महेश के पैर में चोट के निशान और सूजन।कोरा क्वारेंटाइन सेंटर पर पिटाई के बाद महेश के पैर में चोट के निशान और सूजन।

  • सीओं ने ही क्वारेंटाइन सेंटर पर जाकर प्रवासियाें से कहा था कि काेई शिकायत हाे ताे व्हाट्सएप पर फाेटाे और वीडियाे भेजना
  • ये चोट के निशान झूठ नहीं बोलते साहब...

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

दरभंगा. प्रखंड की भरहुल्ली पंचायत के उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालय कोरा में बनाए गए क्वारेंटाइन सेंटर में रह रहे प्रवासियों ने सेंटर पर फैली अव्यवस्था को लेकर सीओ से शिकायत की तो शुक्रवार को बीडीओ और सीओ ने सेंटर पर पहुंच कर उनसे गाली-गलौज की और कमरे में बंद कर दो प्रवासियों को गार्ड से पिटाई करा दी। शुक्रवार की ग्रामीणों ने सिंहवाड़ा थाना के व्हाट्सएप ग्रुप साइबर सेनानी पर वीडियो भेजकर इसकी शिकायत कीै। जिसमें कोरा के महेश महतो और अमरनाथ मंडल कह रहे हैं कि वे दोनों राजस्थान के अजमेर से 18 मई को गांव पहुंचे थे। जिसके बाद उन्हें कोरा में बने क्वारेंटाइन सेंटर पर भेज दिया गया था। सेंटर का दौरा करने के दौरान सीओ सुशील कुमार उपाध्याय ने कहा था कि समस्या हो तो मेरे व्हाट्सएप पर फोटो और वीडियो भेज दीजिएगा। जिसके बाद हमलोगों ने सेंटर पर शौचालय और चापाकल की समस्या की जानकारी सीओ के व्हाट्सएप पर भेजी थी। शिकायत के बाद स्कूल परिसर में खराब पड़े दो चापाकल को ठीक किया गया है। 
शुक्रवार को सीओ सुशील कुमार उपाध्याय, बीडीओ सिद्धार्थ कुमार सिंहवाड़ा पुलिस के साथ सेंटर पर आए थे। अधिकारियों ने गाली देते हुए पूछा कि किसने फोटो और वीडियो भेजा था। जैसे हो दोनों युवकों ने अपना नाम बताया तो उन्हें अधिकारियों ने स्कूल के कार्यालय कक्ष में ले जाकर बंद कर दिया और दोनों युवकों को सौ बार उठक-बैठक करने को कहा। फिर सीओ के साथ आए गार्ड व सिपाही ने लाठी से पीटना शुरू कर दिया। वहीं, बुजुर्ग रामदयाल महतो को गलियां दी। 
दोनों युवकों के शरीर में सूजन मिली : डॉ. परमानंद
शनिवार को सीएचसी के डॉ. परमानंद गुप्ता व एएनएम विजया लक्ष्मी ने जख्मियों की स्वास्थ्य जांच कर दवा दी है। डॉक्टर ने कहा है कि दोनों युवक के शरीर में सूजन है। एक के पैर में और दूसरे के शरीर पर चोट के निशान हैं। आवश्यकता पड़ी तो उनका एक्स-रे कराया जाएगा। वहीं उस क्वारेंटाइन सेंटर के सभी प्रवासियाें काे डाॅक्टर ने यह कहकर घर भेज दिया की वे यलो जाेन से आए थें। 
कमरे से मारपीट की आवाज आ रही थी : एचएम 
क्वारेंटाइन सेंटर के प्रभारी स्कूल के एचएम विक्टोरिया मोची ने बताया कि सेंटर पर कुल 85 व्यक्ति रह रहे हैं। 16 मई को 21 लाेग, 17 मई को 34 व 18 मई को 30 लाेग राजस्थान से आए थे। उन्होंने बताया कि शुक्रवार को सीओ और बीडीओ सेंटर पर विजिट करने आए थे। उन्होंने महेश महतो और अमरनाथ मंडल को कार्यालय में ले जाने के बाद कमरे को बंद कर लिया था। अंदर से मारपीट की आवाज आ रही थी। दोनों युवक जब कमरे से बाहर निकले तो लंगड़ा रहे थे।
पिटाई नहीं की, मामला राजनीतिक है : बीडीओ  
बीडीओ सिद्धार्थ कुमार ने बताया कि सेंटर पर प्रवासियों के साथ मारपीट नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि सेंटर पर विजिट करने के दौरान भरहुल्ली पंचायत के कोरा में बिना प्रशासनिक अनुमति लिए चौदहवीं वित्त राज्य आयोग से पंचायत भवन के बगल में नाला निर्माण की जानकारी मिली। जांच की गई तो पाया कि पुराने नाला को ही घटिया क्वालिटी की ईंट का प्रयोग कर बनाया जा रहा है। इस संबंध में पंस से स्पष्टीकरण पूछा है। इसी बात को लेकर मुखिया पति द्वारा मामले को राजनीतिक रूप दिया जा रहा है।
रसोइया से दुर्व्यवहार करने पर डांटा गया था : सीओ 
सीओ सुशील कुमार उपाध्याय ने बताया कि क्वारेंटाइन सेंटर पर पांच प्रवासियों द्वारा रसोइया और महिला शिक्षकों से दुर्व्यवहार करने की शिकायत मिली थी। जिसके बाद उन पांचों को चिह्नित कर उनका नाम रजिस्टर में दर्ज किया गया था और रसोइया एवं शिक्षक से दुर्व्यवहार करने की बात पर डांटा गया था। मारपीट करने की बात बेबुनियाद है। लेकिन, जब इस मामले में स्कूल की रसोइया और शिक्षक से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उनके साथ किसी प्रवासी ने कोई दुर्व्यवहार नहीं किया है।
सुविधा के नाम पर प्रवासियों को मिली लाठी : प्रमुख 
प्रखंड प्रमुख आरती देवी ने कहा है कि इस तरह का मामला होना गंभीर है। क्वारेंटाइन सेंटर पर प्रवासियों को सुविधा मिलने के बजाय लाठी मिल रही है। उन्होंने पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच कराने और दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है।
भास्कर ने ऐसे किया बीडीओ और सीओ के झूठ का खुलासा
सिंहवाड़ा थाना के साइबर सेनानी ग्रुप में पीड़िताें की आपबीती सुनाते हुए वीडियाे भेजने पर हुआ खुलासा।
जब महेश महतो और अमरनाथ मंडल की पिटाई के बारे में सीओ और बीडीओ से पूछा गया ताे उन्हाेंने इसे झूठ बताया।
लेकिन, एचएम ने बताया कि बीडीओ और सीओ ने दाेनाें युवकों काे कमरे में ले जाकर दरवाजा बंद कर लिया, जिसके बाद अंदर से पिटाई की आवाज आ रही थी। 
दोनों युवकाें की जांच करने गए सीएचसी के डॉ. परमानंद गुप्ता ने बताया कि दाेनाें के शरीर पर चाेट के निशान और सूजन मिले हैं।
फिर, सीओ ने कहा की प्रवासियों ने शिक्षकों और रसोइया के साथ बदसलूकी की, इसीलिए डांटा।
लेकिन, शिक्षक और रसाेइया ने बताया कि हमारे साथ काेई बदसलूकी नहीं की गई है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना