पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

महिला सिपाही से अश्लील हरकत का मामला:आईजी के रीडर दारोगा शुभकरण ओझा पर एफआईआर दर्ज, आरोप के बाद छुट्‌टी पर चले गए थे दारोगा, 23 दिन बाद लौटे

दरभंगा5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • आईजी ने एसएसपी को दिया था कानूनी कार्रवाई का निर्देश
  • आंतरिक परिवाद समिति की ओर से दो पन्नों में सौंपी गई थी जांच रिपोर्ट, आरोप सही निकला

अश्लील हरकत के मामले में पिछले माह से चर्चा में आए आईजी के रीडर सब इंस्पेक्टर शुभकरण ओझा के खिलाफ पीड़ित महिला सिपाही के बयान पर रविवार को एफआईआर दर्ज की गई। इस प्रकरण में एक सप्ताह के अंदर दो-दो मामले दर्ज किए जा चुके हैं। इससे पूर्व महिला सिपाही ने 15 अक्टूबर को कोर्ट में रीडर शुभकरण ओझा, सिपाही मनोज कुमार सिंह, चालक सिपाही पंकज सिंह और सिपाही रागीव आलम खां पर नालिसी दायर कराई थी।

बताया जाता है कि महिला सिपाही ने पिछले माह भी लहेरियासराय थाना में एक मामला दर्ज कराया था, जिसमें रागीव आलम खां और उसके दोस्त के खिलाफ लेन-देन में धमकाने का आरोप है। अश्लील हरकत के प्रकरण में एसएसपी बाबूराम ने बताया कि मामले में कानूनी कार्रवाई की जा रही है। बताया जाता है कि शिकायत मिलने पर एसएसपी ने दारोगा व महिला सिपाही के मामले की जांच कराई थी।

अश्लील ऑडियो और व्हाट्सएप चेटिंग के इस मामले में पिछले दिनों जांच पूरी कराकर उन्होंने आईजी को रिपोर्ट सौंपी थी। क्योंकि आईजी अजिताभ कुमार ने ही इस मामले में जांच कराने का उन्हें निर्देश दिया था। आंतरिक परिवाद समिति की ओर से दो पन्नों में जांच रिपोर्ट एसएसपी को समर्पित कर दारोगा शुभकरण को दोषी करार दिया था।

दारोगा के मामले में लगभग 20 पन्ने में व्हाट्सएप चैटिंग का कॉल डिटेल्स निकाला गया और पाया गया कि दो माह से अधिक दिनों से दोनों ओर से कई बार बातें हुई हैं। हालांकि अधिक कॉल दारोगा ने की थी। प्रमंडलीय कार्यालय के पांच कर्मियों का बयान भी लिया गया था।

महिलाओं को धमकाता था रीडर

प्रमंडलीय कार्यालय के कर्मियों ने बताया कि दोपहर में महिला सिपाही आती थी। ऑफिस में कुछ गलत हरकत नहीं हुई है। महिला थानाध्यक्ष सीमा कुमारी, महिला थाना के कर्मी सह आंतरिक परिवाद समिति सदस्यों और नोडल अधिकारी मुख्यालय डीएसपी सुधीर कुमार की ओर से मामले में जांच की गई। महिला ने आरोप लगाया है कि शारीरिक संबंध नहीं बनाने को लेकर तरह-तरह की धमकियां और अश्लील बाते कही गई।

वहीं, रीडर ने यह भी कहा कि यहां काम करने वाली लड़कियां उनके साथ संबंध बनाने को तैयार रहती हैं। ऐसा नहीं करने पर उसे निलंबित और बर्खास्त तक कराने की धमकी दी गई। दो दिन पहले आईजी ने अनुशासनिक कार्रवाई और कानूनी कार्रवाई के लिए एसएसपी को निर्देश दिया था। आईजी ने आरोपी से स्पष्टीकरण भी पूछा।

मगर मामला विवादित ही रहा। घटना चर्चा में आने के बाद महिला सिपाही ने अपना बयान तो दिया, मगर आरोपी दारोगा पांच दिनों की छुट्टी पर रहने के बीच 21 दिनों की छुट्टी बढ़वाकर जिले से बाहर थे। तीन दिनों पूर्व वह यहां आए, मगर उनकी ज्वाइनिंग नहीं हुई। जांच के मामले में उन्हें दोषी करार दिया गया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें